मध्य प्रदेश में 50 पैसे किलो बिक रहा है प्याज…


मंदसौर. मध्य प्रदेश में प्याज के दाम भले ही खरीददारों को मंहगे हो शहरों में इसका भाव 25 से 40 रुपए किलों चल रहा हो पर किसानों को इसकी कीमत 50 पैसे प्रति किलो ही मिल रही है जी हां सही पढ़ा आपने मंदसौर जिले की मंडी में जब किसान नया प्लाज लेकर बेचने पहुंचे तो आड़तिये ने 100 किलो प्याज के 50 रुपए पकड़ा दिए।

हालांकि हर साल लोग प्याज के आसमान छूते दाम से परेशान हो ही जाते हैं। फिर जब प्याज की फसल आती है तो कीमतें जमीन पर आ जाती हैं। किसान प्याज के दाम देखकर इसकी फसल उगाता है और जब मंडी बेचने जाता है तो पता चलता है कि उसकी लागत भी नहीं निकल रही।

यह भी पढ़ें

अब बिजली जलाने के लिए भी कराना पडे़गा रिचार्ज, प्रीपेड मीटर्स की तैयारी

आम आदमी को जब प्याज 25-40 रुपये किलो मिल रही है तब किसान मंदसौर की कृषि मंडी में 50 रुपये में 100 किलो प्याज बेचने को मजबूर हैं। नए साल पर जब किसान अपनी प्याज की फसल को लेकर मंडी पहुंचा तो उसका कलेजा मुंह तक आ गया। आड़तिए ने जो बिल दिया उसे देखकर किसान के होश उड़ गए। व्यापारी ने 50 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से प्याज का भुगतान किया। इस हिसाब से प्याज 50 पैसे प्रति किलो बिक गई। इस भाव में प्याज को बेचने के बाद किसानों को समझ में नहीं आ रहा कि उसकी लागत कैसे पूरी होगी।

अब किसान को भुगतान की पर्ची और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। एक तरफ सरकारें किसानों की आय दुगनी करने का दावा करती है दूसरी तरफ फसलों के मिलते दाम उन दावों की हकीकत बयान करते हैं आखिर उत्पादन के बाद फसल की इतनी कीमत मिलती है तो किसानों कैसे लागत निकालेगा और कैसे अपने परिवार का पालन पोषण करेगा। प्याज के 50 पैसे प्रति किलो दाम मिलने से कुछ दिन पहले मंदसौर मंडी में ही किसानों लहसून के दाम नहीं मिलने पर लहसुन को जला दिया था। किसान ने फसल की लागत से कम दाम मिलने पर लहसून की बोरी पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी।



Source link