सपा एमएलसी पुष्पराज हिरासत में, 35 ठिकानों पर रेड में मिले 20 करोड़ खरीद के फर्जी डॉक्यूमेंट्स


कानपुर. कन्नौज के मशहूर इत्र कारोबारी और समाजवादी पार्टी एमएलसी पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी जैन को आयकर विभाग ने हिरासत ले लिया है। कानपुर में आइटी की टीम उनसे कड़ी पूछताछ कर रही है। अभी कोई बड़ा सुबूत हाथ नहीं लगा है। इसके पहले पम्मी जैन के करीब 35 ठिकानों पर छापेमारी के दौरान 20 करोड़ की बोगस इंट्री के दस्तावेज मिले हैं। मिडिल ईस्ट से करीब 40 करोड़ रुपये के निवेश के कागजात भी पाए गए हैं। अभी 12 और जगहों पर छानबीन चल रही है। आयकर विभाग को पम्पी जैन के मुंबई स्थित घर से दो करोड़ रुपए नगद मिले थे। पाया गया है कि कागजों में कुल कारोबार में आधा मुनाफा और आधी बिक्री दिखाई जा रही थी। कानपुर स्थित पम्पी जैन के बहनोई के दोनों घर सील हैं। हालांकि,कन्नौज से कानपुर ले जाते समय पम्पी जैन ने कहाकि, आइटी टीम को उनके खिलाफ कुछ भी नहीं मिला और ‘सब कुछ अच्छा है।

सीज कागजातों की चल रही जांच सपा एमएलसी पुष्पराज उर्फ पम्पी जैन के घर पर तीन दिन से आयकर विभाग की छापेमारी चल रही थी। आयकर टीम अपने साथ कई बैग में दस्तावेज ले गई है। कन्नौज में पम्पी जैन के घर और फैक्ट्री पर अब भी पुलिसकर्मी मौजूद हैं। सीज कागजातों की जांच चल रही है।

यह भी पढ़ें

एमएलसी पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी जैन इनकम टैक्स की हिरासत में, कानपुर में पूछताछ शुरू

पीयूष जैन का स्विटरलैंड कनेक्शन 197 करोड़ नगद बरामद होने के आरोप में जेल में बंद इत्र कारोबारी पीयूष जैन की जमानत अभी तक नहीं हुई है। घर में मिले 23 किलो सोने को लेकर राजस्व खुफिया निदेशालय ने पीयूष को पूछताछ के लिए रिमांड पर लेने की अर्जी दी है। कोर्ट के आदेश पर राजस्व खुफिया की टीम उसके स्विटरजरलैंड कनेक्शन पर भी पूछताछ करेगी। आशंका है कि बरामद सोना अवैध तरीके से स्विटजरलैंड से मंगाया गया। सोने पर खुरेचने के निशान हैं। माना जा रहा है बिस्कुट पर कुछ लिखा था जिसे मिटाया गया है।

यह भी पढ़ें

धनकुबेर पीयूष जैन की कहानी, अकूत संपदा का आदमी पायजामे में पहुंच जाता था शादी-ब्याह में, चलता था खटारा कार से

खीझ मिटाने के लिए छापा – अखिलेश यादव सरकार पर हमला बोलते हुए कन्नौज में अखिलेश यादव ने कहाकि, पुष्पराज जैन को ढूंढने गए थे, ढूंढ निकाला पियूष जैन को जो इनके मिलने वाले हैं। खीझ मिटाने के लिए पंपी जैन के घर छापा मारा है।

चुनाव से ठीक पहले यह छापे क्यों – रामगोपाल यादव सपा नेता रामगोपाल यादव ने कहा, ‘जब जब चुनाव आता है, तो छापे मारने वाले अधिकारियों का गाडिय़ों पर लिख दिया जाता है- ऑल इलेक्शन ड्यूटी। तो चुनाव से ठीक पहले यह छापे क्यों। इससे पहले क्या आईटी विभाग सो रहा था।



Source link