करबला मैदान में क्रिकेट लीग पर आयोजक-अल्पसंख्यक संगठन आमने-सामने, टकराव के हालात


जयपुर। राजधानी जयपुर के आमेर रोड स्थित करबला मैदान पर क्रिकेट लीग के आयोजन को लेकर आयोजक और स्थानीय लोग आमने-सामने हैं। विरोध के बावजूद आयोजक कर्बला मैदान पर क्रिकेट लीग कराने पर अड़े हुए हैं। क्रिकेट लीग का आयोजन आज शाम 5 बजे से होना है। स्थानीय बाशिंदों और अल्पसंख्यक संगठनों के विरोध को देखते हुए पुलिस भी अलर्ट है।

वहीं कर्बला मैदान पर विरोध के बावजूद आयोजकों की ओर से क्रिकेट लीग कराए जाने को लेकर अल्पसंख्यक संगठनों ने जलदाय मंत्री और क्षेत्रीय विधायक महेश जोशी के इस्तीफे की मांग की है। दरअसल यह पूरा मामला महेश जोशी के पुत्र रोहित जोशी से जुड़ा है जो कि क्रिकेट लीग के आयोजक हैं। इसी के चलते स्थानीय लोगों और अल्पसंख्यक संगठनों ने मंत्री और मंत्री पुत्र खिलाफ मोर्चा खोल रखा है।

कर्बला मैदान पर ये है विरोध का कारण
दअसल कर्बला मैदान पर विरोध की वजह यह है कि कर्बला मैदान राजस्थान वक्फ बोर्ड की प्रॉपर्टी है। बावजूद इसके मंत्री पुत्र और आयोजकों ने क्रिकेट लीग के लिए वक्फ बोर्ड से न तो क्रिकेट लीग के आयोजन की परमिशन ली और बिना मंजूरी के ही कर्बला मैदान की वक्फ संपत्ति पर पक्का पिच निर्माण भी करा दिया, जिसको लेकर लोगों में ज्यादा रोष है।

स्थानीय बाशिंदों और अल्पसंख्यक संगठनों कहना है कि क्रिकेट लीग के आयोजकों की ओर से वक्फ संपत्ति पर पक्का निर्माण करके अतिक्रमण करने का प्रयास किया गया है जिससे किसी सूरत में बर्दाश्त नहीं कर सकता। स्थानीय लोगों का कहना है कि करबला ग्राउंड में पिछले 200 सालों से मोहर्रम पर्व पर जयपुर और आसपास के क्षेत्रों के ताजिए दफन किए जाते हैं। करबला मैदान अल्पसंख्यक वर्ग की धार्मिक आस्था का केंद्र है।

वक्फ बोर्ड ने भी दिए थे पिच तोड़ने के निर्देश
इधर अल्पसंख्यक संगठनों के विरोध के बाद राजस्थान वक्फ बोर्ड ने भी पक्के पिच निर्माण को अतिक्रमण मानते हुए उसे तोड़ने के निर्देश दिए थे लेकिन बावजूद अभी तक पक्का निर्माण नहीं तोड़ा गया। ऐसे में अंदर खाने चर्चा है कि वक्फ बोर्ड भी मंत्री के दबाव में है।



Source link