अब मंगल ग्रह पर बिना जाएं कर सकते हैं अनुभव, हुंडई ने रोबोट के जरिए पेश की नई तकनीक


दक्षिण कोेरिया की वाहन निर्माता कंपनी हुंडई भी मेटावर्स में प्रवेश करना चाहती है, लेकिन इस वर्चुअल स्पेस के लिए इसके विजन अधिक महत्वाकांक्षी हैं। बता दें, CES 2022 में, Hyundai ने मनुष्यों को “समय और स्थान में गति की भौतिक सीमाओं को दूर करने” में मदद करने के लिए बोस्टन डायनेमिक्स रोबोट के कॉन्सेप्ट को पेश किया था। कंपनी के इस कॉन्सेप्ट के पीछे की विचारधारा पर बात करें तो हुंडई खुद का एक डिजिटल ट्विन बनाना चाहती है, जो आपके काम करेगा या आपकी ओर से चीजों का अनुभव करेगा।

हुंडई ने मेटावर्स में अपने डिजिटल ट्विन तक पहुंचने और घर पर अपने पालतू जानवरों को खिलाने या गले लगाने का यह उदाहरण दिया। यानी भले ही आप घर से दूर हों यह रोबोट आपके सारे काम करने में सक्षम होगा। वही इसे कारखानों में वास्तविक दुनिया में चीजों पर काम करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

हुंडई द्वारा दिया गया भविष्य का उदाहरण लोगों को यह अनुभव कराने की योजना थी, कि वास्तव में आप मंगल ग्रह पर जाए बिना कैसे इसे अनुभव कर सकते हैं। हुंडई द्वारा दिखाए गए एक वीडियो में, एक पिता और बेटी को बोस्टन डायनेमिक्स स्पॉट रोबोट के माध्यम से लाल ग्रह का अनुभव करते हुए देखा जाता है, जो शारीरिक रूप से वहां मौजूद है। ध्यान दें, कि मंगल ग्रह पर कौन है, जो मेटावर्स में अनुभव करने के लिए आपके डिजिटल अवतारों के लिए रीयल-टाइम डेटा और इमेजरी एकत्र करने वाले ग्रह को स्कैन करेगा।

हुंडई भी इस तकनीक की कल्पना करती है ताकि आपको यह अनुभव हो सके कि रीयल-टाइम विंड डेटा संग्रह और यहां तक कि चट्टानों और अन्य वस्तुओं को छूने के साथ एक रेतीला तूफान कैसा महसूस होता है। फिलहाल कंपनी ने यह सिर्फ कॉन्सेप्ट पेश किया है, और हम नहीं जानते कि ऐसा मेटावर्स अनुभव वास्तव में कब संभव होगा। लेकिन यह हमें भविष्य की एक झलक जरूर देता है, जो रोमांचक तो लगता है लेकिन साथ ही डरावना भी लगता है।



Source link