एक बार मुंह लगा ये पेड़ा तो बार-बार आएंगे यहां, 85 साल बाद भी नहीं बदला स्वाद – News18

दीपक पाण्डेय/खरगोन. मिठाई का नाम सुनते ही लोगों के मुंह में पानी आ जाता है. वहीं पेड़ों की बात की जाए तो देश में कई जगह के पेड़े मशहूर हैं. खरगोन में भी एक ऐसी ही मिठाई दुकान है, जहां के पेड़ का कोई जवाब नहीं. इस दुकान पर सिर्फ पेड़ा ही मिलता है. यह दुकान कन्नू भाई पेड़े वाले के नाम से प्रसिद्ध है.

शहर के सराफा बाजार में स्थित यह दुकान लगभग 85 वर्षों से संचालित है. यह शहर की पुरानी दुकानों में शुमार है. यहां बिकने वाले पेड़े का हर कोई दीवाना है, जो एक बार खाता है वो फिर कहीं और नहीं जाता है. कलेक्टर हो, एसपी हो या फिर जज, सबकी जुबां पर कन्नू भाई के पेड़े का ही स्वाद रहता है.

ऐसे पड़ा दुकान का नाम
दुकान संचालक नितिन गुजराथी ने बताया कि खरगोन में उनकी दुकान काफी पुरानी है. उनके दादा कन्हैयालाल गुजराथी ने ही शहर में पेड़े बनाने और बेचने की शुरुआत की थी. शहर के लोग उन्हे कन्नू भाई कहकर पुकारते थे, इसलिए उन्हीं के नाम पर दुकान का नाम रखा गया है. रिकॉर्ड के अनुसार, सन 1938 में यहां दुकान शुरू हुई थी. हालांकि दुकान इससे भी ज्यादा पुरानी है.

इन्होंने की थी पेड़े बनाने की शुरुआत
दुकानदार का कहना है कि उनके दादा पहले दूध का व्यवसाय करते थे, फिर पेड़े बनाना शुरू किया. शुरुआत में पेड़े का साइज काफी बड़ा था. थाल में करीब 125 ग्राम का एक पेड़ा बनता था, लेकिन समय के साथ अब साइज छोटा हो गया है. फिलहाल दो वैरायटी में पेड़े बनते हैं. पहला स्पेशल पेड़ा जो कम शकर में बनता है, दूसरा नॉर्मल पेड़ा जो मीठा होता है.

इतनी है पेड़े की कीमत
आगे बताया कि 20 रुपये किलो तक पेड़े बिकते तो उन्होंने देखे हैं. इसके पहले कीमत और भी कम हुआ करती थी. लेकिन अब महंगाई बढ़ने से 400 और 450 रुपये किलो में पेड़े बेच रहे हैं. ग्राहकों के अनुसार, खास बात यह कि इतने वर्षों में स्वाद में कोई बदलाव नहीं आया है.

विदेशों में भी डिमांड
दुकानदार नितिन ने बताया कि उनके यहां के पेड़े शहर ही नहीं विदेशों में भी जाते हैं. सऊदी अरब, कोरिया जैसे कई देशों में यहां के पेड़ों की खास डिमांड रहती है. हर तीसरे चौथे दिन शहर से कोई न कोई विदेश जाता है तो यहां से पेड़े लेकर ही जाता है. एक दिन में करीब 20 से 25 किलो पेड़े बिक जाते हैं. त्योहारों पर यह आंकड़ा और बढ़ जाता है.

Tags: Food 18, Local18, Mp news

Source : hindi.news18.com