गुजरात का अनोखा मंदिर जहां महादेव की आरती में अचानक शामिल होते हैं कुत्ते! – News18

निलेष माजिराणा/बनासकांठा: बनासकांठा जिले का प्रसिद्ध तीर्थ बलराम महादेव मंदिर बहुत चमत्कारी माना जाता है. यह मंदिर पालनपुर से मात्र 15 किलोमीटर की दूरी पर घने जंगल के बीच स्थित है. बलराम महादेव मंदिर से एक रहस्य जुड़ा हुआ है जो आपको हैरान कर सकती है . हिन्दू मान्यता के अनुसार भगवान की पूजा करने का अधिकार हर प्राणी को है. इस मंदिर में कुत्ते भी भक्ति में लीन हो जाते हैं. यहां जब शाम की आरती शुरू होती है और शंख बजाया जाता है तो अचानक कुत्ते आ जाते हैं और अनोखे अंदाज में भौंकते हैं और शिवजी की भक्ति में लीन हो जाते हैं.

दिन के समय बलराम मंदिर के आसपास दूर-दूर तक कुत्ते नजर नहीं आते, लेकिन जब शाम की आरती का समय होता है और शिव की पूजा करने के लिए कुत्ते भी आ जाते हैं. जब मंदिर में भीड़ होती है तो यह कुत्ते मंदिर से दूर रहकर भौंकते है. जब मंदिर में कोई भक्त नहीं होता तो ये कुत्ते मंदिर तक पहुंच जाते हैं और फिर आरती के समय एक दुर्लभ दृश्य सामने आता है. यहां दर्शन करने वाले भक्त भी कुत्तो के लिए खाना लाते है.

भैरव का रूप धारण आरती में शामिल होते हैं कुत्ते
मंदिर के पुजारी अभिषेक भट्ट ने कहा कि, यह एक चमत्कार है. यह बलराम मंदिर वन क्षेत्र के अंदर स्थित है. जंगलों को वन्यजीवों का घर माना जाता है. शिव सब के हैं, शिव मानव-राक्षस सब में पूजे जाते हैं. इसलिए यहां की आरती में कुत्ते भैरव का रूप धारण करके आते हैं और अपने अनोखे अंदाज से इस आरती में शामिल होते हैं. यह परंपरा काफी वर्षो से चली आ रही है. ये कुत्ते ऐसा क्यों कर रहे हैं इसका रहस्य समझ पाना इंसानों के लिए संभव नहीं है. हालांकि बलराम महादेव के पुजारी इसे चमत्कार ही मानते हैं.

Tags: Dharma Aastha, Gujarat news, Local18, Religion 18

Source : hindi.news18.com