छा गए स्टॉक मार्केट सेफ ट्रेडिंग के मास्टर डॉ. रवि, इस रिकॉर्ड में नाम दर्ज – News18

हाइलाइट्स

जमुई के डॉक्टर रवि आर कुमार का गिनीज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम हुआ दर्ज.
स्टॉक मार्केट सेफ ट्रेडिंग के लिए नाम हुआ दर्ज, 15 वर्षो की मेहनत के बाद कामयाबी.

जमुई. डॉ रवि रंजन कुमार का नाम दुनिया के सकारात्मक परिवर्तन निर्माता के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में सूचीबद्ध हुआ है. इसके बाद इंग्लैंड के लंदन में लॉर्ड्स क्रिकेट मैदान पर वहां के मेयर रामजी चौहान के द्वारा सम्मानित किया गया है. विश्व के 23 लोगों को सकारात्मक परिवर्तन निर्माता की सूची में जोड़ा गया है जिसमें डॉक्टर रविरंजन भी शामिल हैं. डॉ रवि रंजन स्टॉक मार्केट के जानकार हैं वे लोगों को सुरक्षित ट्रेडिंग के लिए शिक्षा देते हैं. डॉ रवि रंजन के इस सफलता पर उसके गांव और जमुई जिले के लोगों में खुशी है, लॉर्ड्स के क्रिकेट मैदान में सम्मानित होने के बाद डॉक्टर रवि रंजन अपने गांव नोनी लौटे, जहां लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया.

लंदन आर्गेनाइजेशन ऑफ स्किल डेवलपमेंट ने दुनिया भर में वैसे 23 लोगों को चुना है, जिनका सकारात्मक बदलाव में योगदान रहा है. जानकारी के अनुसार, डॉ रवि रंजन कुमार भी 23 पॉजिटिव चेंज मेकर्स इन द वर्ल्ड 2023 के लिस्ट में शामिल हुए. जिस कारण गिनीज वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड उनका नाम दर्ज हुआ. डॉक्टर रवि रंजन बीते 15 साल से स्टॉक और शेयर मार्केट से जुड़े हैं, स्टॉक और शेयर मार्केट में विशेष शिक्षा लेने के बाद वे लगातार 2008 से लोगों को सुरक्षित ट्रेडिंग करने के लिए शिक्षा देते हैं.

स्टॉक मार्केट के जानकार 54 देशों में घूम चूके डॉ रवि रंजन ने बताया कि उनकी मां गांव के आंगनबाड़ी में काम करती थी, वह साधारण और गरीब परिवार से आते थे. बचपन में ही उनकी ख्वाहिश थी कि वह कुछ अलग करे और इसी कारण 18 साल की उम्र से ही शेयर मार्केट के बारे में जानने लगा. वर्ष 2008 से 2023 तक 15 साल की मेहनत और लगन के कारण यह कामयाबी मुझे मिली है.

डॉ रवि रंजन ने बताया कि मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करने के पहले और करने के बाद बहुत चीजों पर ध्यान देना पड़ता है. मार्केट बुरा नहीं है, अपनी गलती लोग दूसरे पर ठोकते हैं. जिस तरह गाड़ी चलाते समय ब्रेक पर ध्यान रखा जाता है उसी तरह शेयर मार्केट में भी है. अगर पैसा इन्वेस्ट किए हैं तो उस पर ध्यान रखना चाहिए. मुझे गर्व है कि मैं बिहारी हूं और बिहारी होना स्वाभिमान की बात है. मैं दुनिया के किसी भी कोने में जाता हूं गर्व से और खुलकर कहता हूं कि आई एम फ्रॉम नोनी इन बिहार.

डॉ रवि रंजन ने बताया कि वह साल 2013 से दुबई के रेजिडेंट हैं. नोनी गांव के मध्य विद्यालय से पढ़ाई करने के बाद वह स्कॉलरशिप पर दिल्ली पढ़ने गए फिर स्कॉलरशिप के कारण ही आगे की पढ़ाई करने के लिए 2004 में अमेरिका चले गए. यहां उन्होंने पैसे की तंगी को दूर करने के लिए अमेरिकी आर्मी और नासा में भी कुछ दिन काम किया. तभी से वो स्टॉक ट्रेडिंग का काम शुरू कर दिया था. बाद में 2008 में स्टॉक ट्रेडर के रूप में एक कंपनी खोल दुबई चला गया जहां से वह आगे बढ़ते गए. बताया जाता है कि डॉक्टर रविरंजन स्टॉक ट्रेडर के रूप में 872 करोड़ रुपए के नेटवर्क वर्थ वाले शख्स हैं.

Source : hindi.news18.com