हो सकता है बड़ा साइबर अटैक, हैकर्स ग्रुप की धमकी, भारत में करेंगे साइबर पार्टी – News18

हाइलाइट्स

विश्‍व में अमेरिका के बाद भारत पर होते हैं सबसे ज्‍यादा साइबर हमले
पाकिस्‍तानी और इंडोनेशियाई हैकर्स समूह ने दी अब साइबर अटैक की धमकी
अमेरिका, स्‍वीडन और इजराइल पर पहले हमले कर चुका है यह ग्रुप

नई दिल्‍ली. देश में एक बड़े साइबर हमले का खतरा मंडरा रहा है. अमेरिका, इज़राइल और अमेरिका और स्‍वीडन जैसे देशों पर साइबर अटैक कर चुके पाकिस्‍तानी और इंडोनेशियाई हैकर्स के एक समूह ने भारत पर बड़ा साइबर हमला करने की धमकी दी है. हैकर्स समूह ने अपने टेलीग्राम चैनल पर लिखा है कि ग्रुप 11 दिसंबर को भारत में ‘साइबर पार्टी’ करेगा. समूह का दावा है कि उसके टेलीग्राम चैनल से 4,000 लोग जुड़े हुए हैं. इस धमकी को केंद्र सरकार ने बहुत गंभीरता से लिया है.

केंद्र सरकार ने मंत्रालयों और सभी विभागों को किसी भी अनधिकृत पहुंच को रोकने के लिए अपने साइबर सेफ्टी उपायों को बढ़ाने में सक्रिय रूप से लग जाने को कहा है. साथ ही उन्हें साइबर हाइजिन ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SoPs) का पालन कड़ाई से करने की हिदायत भी दी गई है. सभी डेटा को सुरक्षित रखने और हैकिंग से बचने के लिए जरूरी कदम उठाने का आदेश भी दिया गया है.

ये भी पढ़ें-  हर मोबाइल रिचार्ज और बिल पेमेंट पर कैशबैक की गारंटी, ये 3 क्रेडिट कार्ड देते हैं उम्मीद से ज्यादा फायदे

हेल्‍थ सेक्‍टर हो सकता है पहला टारगेट
news18.com की एक रिपोर्ट के अनुसार, हैकर्स समूह की धमकी के बाद केंद्रीय एजेंसिजेंयां विशेष रूप से सतर्क हो गई हैं. एजेंसियों को अंदेशा है कि इस साइबर अटैक का पहला निशाना हेल्थ सेक्टर हो सकता है. स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र हर समय हैकरों के रडार पर रहता है. कोविड-19 महामारी के बाद तो इस सेक्‍टर पर आक्रमण और तेज हो गए हैं. एजेंसियों ने सक्रिय रूप से संबंधित मंत्रालयों और विभागों को सतर्क रहने के लिए कहा है.

खतरनाक है ये हैकर्स ग्रुप
जिस हैकर्स समूह ने साइबर अटैक की धमकी दी है, वह काफी खतरनाक है. वह पहले भी अमेरिका, स्‍वीडन और इज़राइल जैसे देशों पर साइबर अटैक कर चुका है. इसी समूह ने पहले 12,000 सरकारी वेबसाइटों को निशाना बनाते हुए “रेड नोटिस” जारी किया था. इस समूह ने स्वीडिश सोशल मीडिया यूजर्स का डेटा लीक करने की जिम्‍मेवारी ली थी. इज़राइल के स्वास्थ्य और सोशल मीडिया डेटा में भी इसी ग्रुप ने सेंध लगाई थी.

अमेरिका के न्यूयॉर्क पुलिस विभाग से डेटा लीक करने का दावा भी इस समूह ने किया था. इस समूह के साइबर अटैक काफी विविध होते हैं. इनके हमलों का मकसद महत्‍वपूर्ण जानकारियां चुराने से लेकर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाने वाली घटनाओं को अंजाम देने से लेकर विशिष्ट समुदायों के विरुद्ध लक्षित कार्रवाइयां तक शामिल हैं.

भारत पर होते हैं सबसे ज्‍यादा साइबर अटैक
साइबर सुरक्षा फर्म क्लाउडएसईके की एक रिपोर्ट के अनुसार, एशियाई देशों में भारत पर सबसे ज्‍यादा साइबर अटैक होते हैं. वहीं, विश्‍वभर में अमेरिका के बाद भारत हैकर्स के सबसे ज्‍यादा निशाने पर रहता है. पिछले साल यानी 2022 में भारत में साइबर हमलों की संख्या में 24.3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई.

Tags: Business news in hindi, Cyber Attack, Cyber Crime, Cyber thugs, Modi government

Source : hindi.news18.com