मकराना के मार्बल से तैयार हुआ है रामलला का आसन, इसी पर होंगे विराजमान – News18

हाइलाइट्स

अयोध्या के श्रीराम मंदिर में मकराना की अहम भूमिका
मंदिर में मकराना के सफेद मार्बल का काफी उपयोग हुआ है
फर्श के सफेद मार्बल और उस पर इन-ले वर्क का काम मकराना में हुआ है

नागौर. अयोध्या में श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा की तारीख करीब आ रही है. अयोध्या के भव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण में नागौर के मकराना का भी अहम योगदान है. मकराना के मार्बल से भगवान राम का आसन तैयार किया गया है. गर्भगृह में जिस मार्बल की आसन शिला पर श्रीराम विराजेंगे उसको मकराना में तैयार किया गया है. अयोध्या के श्रीराम मंदिर में मकराना के मार्बल का काफी उपयोग हुआ है. गर्भगृह और फर्श में मकराना का सफेद मार्बल लगाया गया है.

इस तैयार करने वाली फर्म राना मार्बल के निदेशक हुकमाराम चौधरी और धर्माराम चौधरी ने हाल ही में बोरावड़ रोड पर अपने प्रतिष्ठान पर एक कार्यक्रम आयोजित कर आसन शिला को आम नागरिकों के दर्शनों के लिए रखवाया. आसन शिला के दर्शन करने आए लोगों ने श्रीराम मंदिर निर्माण में मकराना की महत्वपूर्ण भूमिका पर गर्व का अनुभव किया.

श्रद्धालुओं ने श्रीराम के चरणों में लगाया ध्यान
सफेद झक संगमरमर से निर्मित आसन शिला के पूरे पेडेस्टल का नाप 6 फीट चार इंच बाई 8 फीट डेढ़ इंच है. इसकी ऊंचाई 3 फीट साढ़े चार इंच है. मंदिर के गर्भगृह के निर्माण में 13,300 घन फीट नक्काशीदार संगमरमर का उपयोग किया गया है. जबकि 95,300 वर्ग फीट मार्बल फर्श और क्लैडिंग के लिए काम में लिया गया है. फर्श के सफेद मार्बल और उस पर इन-ले वर्क का काम हुक्माराम और धर्माराम चौधरी ने किया है.

रामलला की प्रतिमा गर्भगृह में विराजमान होगी
फर्श की मजबूती के लिए सफेद मार्बल स्लैब 35 एमएम मोटाई का लगाया है. सदियों तक मकराना का सौभाग्य रहेगा कि यहां का मार्बल श्रीराम मंदिर के फर्श पर जड़े जाने के बाद विश्वभर के रामभक्तों के पगफेरे (पदार्पण) का साक्षी बनेगा. अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का कार्य जोरों पर चल रहा है. जनवरी में मंदिर में मूर्ति की होने वाली प्राण प्रतिष्ठा के काम में भी दिन-प्रतिदिन तेजी लाई जा रही है. रामलला की प्रतिमा गर्भगृह में विराजमान होगी. भगवान राम की यह प्रतिमा जिस आसन पर स्थापित की जाएगी उस पर लगने वाली मार्बल की शिलाएं मकराना में तैयार की गई हैं.

मकराना को मिला बड़ा सौभाग्य
यह मकराना का सौभाग्य है कि श्रीराम मंदिर में मकराना की खदानों से निकलने वाले सफेद मार्बल का काफी उपयोग हुआ है. इससे फर्श के अलावा गर्भगृह में नक्काशी का काम हुआ है. वहीं मंदिर के पिल्लर मार्बल से बनाए गए हैं. अयोध्या में भगवान श्रीराम का सिंहासन बनकर तैयार हो गया है. उस पर सिर्फ सोने की परत चढ़ानी बाकी है.

Tags: Ayodhya, Jai Shri Ram, Nagaur News, Rajasthan news, Ram Mandir ayodhya

Source : hindi.news18.com