21 क्विंटल धान की बालियों से सजा काशी में मां अन्नपूर्णा का दरबार – News18

अभिषेक जायसवाल/वाराणसी: अन्न की देवी मां अन्नपुर्णा का दरबार अनोखे तरीके से सजाया गया. धान की बालियों से पूरे मंदिर के साथ मां अन्नपूर्णा के गर्भगृह को भी खास तरीके से सजाया गया. जानकारी के मुताबिक कुल 21 क्विंटल धान की बालियों से मंदिर को खूबसूरत तरीके से सजाया गया. बताते चलें कि पूर्वांचल के किसान अपने खेतों की पहली फसल को माता अन्नपूर्णा को अर्पण करते हैं और फिर इन्ही धान की बालियों से उनका मंदिर सजाया जाता है.

काशी अन्नपूर्णा मंदिर के महंत शंकर पुरी ने बताया कि आज सुबह मंदिर के अर्चकों ने मध्याह्न भोग आरती में मां अन्नपूर्णा को स्नान कराया फिर उन्हें नए वस्त्र, आभूषण धारण करा कर धान की बालियों से उनका भव्य श्रृंगार किया. उसके बाद उनकी आरती उतारी गई. आरती के बाद आम भक्तों के दर्शन के लिए कपाट को खोल दिए गए.

किसानों ने टेका मत्था
धान की नई फसल की बालियों से सजे मां के दरबार में महिलाओं के साथ पूर्वांचल के कई जिलों के किसान भी मत्था टेक आशीर्वाद लेते दिखे. बताते चलें कि आज के ही दिन मां अन्नपूर्णा के 17 दिवसीय महाव्रत का उद्यापन भी होता है.

क्या है भक्तों की मान्यता?
मंदिर प्रबंधन से जुड़े काशी मिश्रा ने बताया कि मंदिर में सजे इन धान की बालियों को मंगलवार से प्रसाद के रूप में भक्तों को वितरित किया जाएगा. धार्मिक मान्यता है कि इससे माता अन्नपूर्णा की कृपा श्रद्धालुओं पर बनी रहती है और घर के अन्न भंडार में इस प्रसाद को रखने से घर में कभी अन्न धन की कमी नहीं होती है.

Tags: Local18, Uttar Pradesh News Hindi, Varanasi news

Source : hindi.news18.com