मैं रो रहा था और चाहता था कि कोई देख ना ले, सोच रहा था कि आखिरी बार मां से कब बात की, अश्विन की दर्दभरी… – News18

नई दिल्ली. इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान ऐसा क्या हुआ था कि रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को मैच को बीच छोड़कर अपने घर जाना पड़ा था. अलग-अलग सोर्स से यह खबर आप तक पहले ही पहुंच चुकी है. लेकिन अब रविचंद्रन अश्विन ने खुद इसका खुलासा किया है. रविचंद्रन अश्विन ने बताया कि जब वे 500वां विकेट लेने का जश्न मना रहे थे, तब एक फोन ने कैसे उनकी दुनिया हिला दी थी और कैसे कप्तान रोहित शर्मा उस वक्त मसीहा की तरह सामने आए थे.

रविचंद्रन अश्विन ने इस पूरे वाकये को अपने यूट्यूब चैनल पर विस्तार से बताया है. आर अश्विन (R Ashwin) कहते हैं, ‘ हम मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद ड्रेसिंग रूम पहुंचे. मैंने उस दिन 500वां टेस्ट विकेट लिया था. इस कारण कुछ इंटरव्यू देने के लिए प्रेस बॉक्स में गया. शाम 7 बजे तक लौटकर आया. सब बधाई दे रहे थे, लेकिन मुझे याद आया कि अब तक घर से कोई फोन नहीं आया है. फिर मैंने पैरेंट्स को कॉल किया, लेकिन बात नहीं हो सकी. फिर मैंने पत्नी को फोन लगाया.’

सिर्फ एक महीने में क्रिकेट वर्ल्ड पर कैसे छाए यशस्वी जायसवाल, क्या हैं 10 रिकॉर्ड, जिन्हें ICC ने भी सराहा

अश्विन आगे कहते हैं, ‘पत्नी की आवाज लड़खड़ा रही थी. मैंने कहा कि मैं शॉवर लेने जा रहा हूं. तब पत्नी ने मुझसे कहा कि मैं अकेला हो जाऊं यानी अपने टीममेट्स से थोड़ा दूर चला जाऊं. इसके बाद उसने बताया कि मां तेज सिरदर्द के बाद बेहोश हो गई हैं. इतना सुनते ही मेरी आंखों के सामने अंधेरा छा गया. मुझे याद नही कि उस वक्त मैंने क्या किया लेकिन मैं रो रहा था. मुझे याद नहीं कि मैंने पत्नी से क्या बात की. लेकिन मैं चाहता था कि मुझे रोता हुआ कोई ना देखें. मैं अपने कमरे में अकेला बैठ गया, बिना यह जाने कि मुझे क्या करना चाहिए.

रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) आगे बताते हैं कि कुछ देर बाद रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ उनके कमरे में आते हैं. जब रोहित को शायद मां की तबीयत की खबर लग गई थी. वे आते ही कहते हैं कि क्या कर रहे हो. बैग पैक करो और घर जाओ. इसके बाद रोहित और बाकी लोग मिलकर मेरे राजकोट से चेन्नई लौटने का इंतजाम करते हैं.

Tags: India Vs England, R ashwin, Ravichandran ashwin

Source : hindi.news18.com