पहले वेतन रूका,अब FIR,बिहार में इस जिले के शिक्षकों पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार – News18

मुजफ्फरपुर. बिहार का शिक्षा विभाग खास कर के शिक्षक अपने कारनामों की वजह से हमेशा से सुर्खियों में रहते हैं. ताजा मामला अधिकारियों के खिलाफ शिक्षकों द्वारा लाठी-डंडा और गुलदस्ता लेकर विरोध प्रदर्शन करने से जुड़ा है. इस प्रकरण में एक साथ 20 शिक्षकों पर अब गिरफ्तारी की तलवार लटकने लगी है. जिन लोगों पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी है वो सभी नियोजित शिक्षक हैं जिनको उनका विरोध-प्रदर्शन अब खासा महंगा पड़ गया है. मामला मुजफ्फरपुर जिला से जुड़ा है जहां नगर थाना में डीपीओ स्थापना ने विरोध प्रदर्शन करने वाले 20 शिक्षकों के खिलाफ़ एफआईआर दर्ज करने के लिए आवदेन दिया है.

नगर थाना पुलिस ने उस आवदेन पर एफआईआर दर्ज कर लिया है और आगे की करवाई में जुट गई है. यानी नामजद शिक्षक कभी भी गिरफ्तार हो सकते हैं. एसएचओ नगर विजय कुमार सिंह ने इसकी पुष्टि की है. आपको बता दें कि बीते 10 मार्च को नगर थाना क्षेत्र के शहीद खुदीराम बोस स्मारक स्थल पर शिक्षा विभाग के खिलाफ शिक्षकों ने लाठी और डंडा को लेकर मोर्चा खोलते हुए प्रदर्शन किया था, जिसमें सभी नियोजित शिक्षक शामिल थे.

शिक्षकों ने लाठी डंडा के साथ गुलदस्ता लेकर शिक्षा विभाग के खिलाफ मोर्चा खोलने का आवाहन किया था, जिसमें कहा गया था कि जो भ्रष्ट अधिकारी हैं, उन्हे लाठी-डंडा दिखाया जायेगा और अच्छे अधिकारी हैं उन्हें फूल का गुलदस्ता भेंट किया जायेगा. इसके बाद शिक्षा विभाग ने मामले में संज्ञान लेकर नगर थाने में सरकारी कार्य में बाधा डालने और विभाग के द्वारा प्रदत नियम के खिलाफ कार्य करने को लेकर नगर थाने में आवेदन देकर एफआईआर दर्ज करने की बात कही थी.

यही नहीं बल्कि शिक्षा विभाग की ओर से सभी आरोपी 20 नियोजित शिक्षकों के वेतन पर भी रोक लगाते हुए 24 घंटे के अंदर पूरे प्रकरण पर स्पष्टीकरण भी मांगा था लेकिन संतुष्ट जवाब नहीं मिलने के बाद नगर थाने में आरोपी बनाए गए सभी शिक्षकों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली गई है. एफआईर दर्ज होने के बाद अब इन सभी शिक्षकों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है.

Tags: Bihar News, Bihar Teacher, Muzaffarpur news

Source : hindi.news18.com