इंडियन नेवी ने किया ऐसा कारनामा, अमेरिका भी तारीफ करते नहीं थक रहा – News18

नई दिल्ली. अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने हिंद महासागर क्षेत्र में समुद्री लुटेरों के खिलाफ अभियानों में भारतीय नौसेना द्वारा निभाई जा रही महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना की है. उन्होंने सोमवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से फोन पर चर्चा करते हुए नौसेना की सराहना की. दोनों मंत्रियों ने द्विपक्षीय, क्षेत्रीय सुरक्षा और रक्षा सहयोग के मुद्दों पर संक्षेप में चर्चा की.

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, उन्होंने हाल की द्विपक्षीय घटनाओं जैसे फरवरी 2024 में नई दिल्ली में आयोजित इंडस-एक्स शिखर सम्मेलन और 18 मार्च 2024 को भारत में ही शुरू तीनों सेनाओं के द्विपक्षीय अभ्यास ‘टाइगर ट्रायम्फ’ की समीक्षा की.

दोनों मंत्रियों ने पिछले साल संपन्न भारत-अमेरिका रक्षा सहयोग रोडमैप को लागू करने के तरीकों और साधनों पर चर्चा की. भारतीय शिपयार्डों में अमेरिकी नौसैनिक जहाजों की मरम्मत जैसे अन्य रक्षा औद्योगिक सहयोग मुद्दों पर भी संक्षेप में चर्चा की गई. दोनों की आखिरी मुलाकात नवंबर 2023 में भारत-अमेरिका मंत्रिस्तरीय टू प्लस टू वार्ता के दौरान नई दिल्ली में हुई थी.

नौसेना ने अपहृत जहाज को सोमाली डाकुओं के चंगुल से छुड़ाया
गौरतलब है कि भारतीय नौसेना ने अपने शौर्य का परिचय देते हुए एक अभियान में ना सिर्फ सोमालिया के 35 समुद्री डाकुओं को पकड़ा, बल्कि उनके द्वारा बंधक बनाए गए 17 बंधकों को आजाद भी करा लिया. नौसेना ने 16 मार्च को एक सुव्यवस्थित अभियान के तहत भारतीय तट से लगभग 2,600 किलोमीटर दूर पूर्व में माल्टा के ध्वजांकित व्यापारिक जहाज (एमवी) रुएन को अपने कब्जे में ले लिया. नौसेना ने बताया कि एमवी रुएन का सोमालिया के जलदस्युओं ने 14 दिसंबर को अपहरण कर लिया था.

इस अभियान के बारे में विशेषज्ञों ने कहा कि पिछले लगभग सात वर्ष में सोमालिया के समुद्री डाकुओं से किसी जहाज को इस तरह से छुड़ाने का यह पहला सफल अभियान है. नौसेना ने करीब 40 घंटे के अभियान के दौरान आईएनएस कोलकाता और आईएनएस सुभद्रा और सी गार्जियन ड्रोन को तैनात किया था. अभियान के लिए सी-17 विमान से विशिष्ट मार्कोस कमांडो को उतारा गया था.

Tags: Indian navy, Indian Ocean, Rajnath Singh, United States

Source : hindi.news18.com