एक मूर्ति में 24 अवतार, तोड़ने पहुंचा था औरंगजेब, तब हजारों मधुमक्खियों ने… – News18

विकाश पाण्डेय/सतना: जिला मुख्यालय से तकरीबन 30 किलोमीटर दूर स्थित नारायण देव स्वामी का अद्भुत मंदिर है. यहां भगवान विष्णु के 24 अवतारों की सैकड़ों वर्ष पुरानी प्रतिमा स्थापित है. कहते हैं कि इस प्रतिमा को औरंगजेब द्वारा खंडित करने का प्रयास किया गया था, जिसके साक्ष्य आज भी यहां मौजूद हैं.

गांव के बुजुर्गों ने बताया कि औरंगजेब की सेना ने जैसे ही मंदिर के अंदर स्थापित प्रतिमा को खंडित करने की कोशिश की, तभी मंदिर के अंदर से अचानक मधुमक्खियों का झुंड निलक आया और औरंगजेब व उसके सैनिकों पर टूट पड़ा. मधुमक्खियां इतनी संख्या में थीं कि पूरी सेना को उल्टे पांव भागने पर मजबूर कर दिया था.

24 अवतारों के होते हैं दर्शन
भगवान श्री विष्णु की इस अद्भुत मूर्ति में 24 अवतारों के दर्शन हो जाते हैं. लोकल 18 से ग्रामीणों ने बताया कि तकरीबन 8 फिट के प्रस्तर में प्रधान प्रतिमा है. इसमें भगवान नारायण चतुर्भुज अवतार में विराजे हैं. चारों तरफ भगवान विष्णु के 24 अवतारों की प्रतिमाएं उकेरी गई हैं. इसमें मत्स्य, कच्छप, वराह, नृसिंह, वामन आदि अवतारों को साफ देखा जा सकता है. कुछ खंडित मूर्तियां भी हैं. इसके अलावा दाहिने तरफ शिवलिंग और बायीं ओर अन्य प्रतिमा भी गर्भगृह में हैं.

लवाना जाति के लोगों ने की थी स्थापित
मंदिर में स्थापित मूर्ति को लेकर स्थानीय निवासी अनमोल मिश्रा ने लोकल 18 को बताया कि इस मंदिर की प्रतिमा की स्थापना को लेकर कोई लिखित प्रमाण नहीं है. लेकिन, बुजुर्गों से सुनी-सुनाई कहानी के अनुसार, सालों पहले लबाना जाति के लोग इस प्रतिमा को ले जा रहे थे. जहां आज मूर्ति स्थापित है, वहीं उनकी बैलगाड़ी खराब हो गई थी. बैलगाड़ी के खराब होने के बाद मूर्ति को यहीं रखा गया था और जब वह बैलगाड़ी बन गई तो मूर्ति को बैलगाड़ी में लादने का प्रयास किया गया. लेकिन, मूर्ति अपनी जगह से हिली तक नहीं. ऐसे में लबाना जाति के लोगों ने वहीं मूर्ति की स्थापना कर दी. इसके कई वर्षों बाद गैवीनाथ शिवलिंग तोड़ने आए औरंगजेब ने इस मूर्ति को खंडित करने का प्रयास किया और मूर्ति के कुछ अंशों को तुड़वा दिया. जिसके बाद मंदिर से निकली मधुमक्खियों के कारण प्रमुख प्रतिमा को खंडित नहीं कर पाया.

यहां है मंदिर
स्वामी नारायण देव का यह मंदिर जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर गोरसरी गांव में स्थित है जो की जैतवारा तहसील अंतर्गत आता है.

Tags: Local18, Mp news, Religion 18, Satna news

Source : hindi.news18.com