2 क्विंटल दूध का 40 किलो पेड़ा, एक की कीमत 10 रुपए, शाम तक सारा सफाचट – News18

रूपांशु चौधरी/हजारीबाग. झारखंड में पेड़ा के लिए यूं तो देवघर यानी बाबाधाम मशहूर है. लोगों को यहां के पेड़ों का स्वाद भी लुभाता है. लेकिन प्रदेश का एक और जिला है, जहां के पेड़े बेहद स्वादिष्ट होते हैं. हजारीबाग जिले के पदमा प्रखंड के पदमा गेट के पास दिलखुश पेड़ा भंडार अपने पेड़ों के स्वाद के लिए दूर-दूर तक जाना जाता है. यह दुकान नेशनल हाईवे 33 के बगल में है, जिसके कारण सड़क से गुजर रहे लोग भी अक्सर यहां रुककर पेड़े का स्वाद लेते हैं और पैक करवा के भी ले जाते हैं.

दिलखुश पेड़ा भंडार के संचालक दुल्लू यादव बताते हैं कि इस दुकान की शुरुवात 2004 में की गई थी. इससे पहले वह देवघर में पेड़ा बनाने का काम करते थे. वहां से आने के बाद यहां पेड़ा बनाने का काम शुरू किया. अभी रोजाना 200 किलो देशी दूध से पेड़ा बनाया जाता है. इसके लिए आसपास के गांवों से 100 किलो भैंस और 100 किलो गाय का दूध मंगवाया जाता है.

शुद्धता है पहचान
दुल्लू यादव ने लोकल18 से बातचीत में कहा कि दूध से बना सामान अमृत के समान होता है. जिसके कारण यहां शुद्ध दूध से पेड़ा बनाया जाता है. यहां अभी रोजाना 40 किलो से अधिक पेड़े की खपत है. त्योहार के समय बिक्री में और भी इजाफा हो जाता है. यहां बने पेड़े का स्वाद दूर-दूर तक मशहूर है. झारखंड और बिहार के अलावा कई अन्य राज्यों के लोग भी इस पेड़े का स्वाद ले चुके हैं. अभी पेड़ा 400 रुपए किलो और 10 रुपए पीस है.

यहां लें स्वाद
इस पेड़े का स्वाद लेने के लिए आपको हजारीबाग से 25 किलोमीटर दूर पदमा आना होगा. यहीं पदमा गेट के पास यह दुकान है. यहां आने के लिए आप गूगल मैप का सहारा ले सकते हैं. आपकी सहायता के लिए लिंक नीचे दिया गया है.
https://maps.app.goo.gl/HXWGf44y6xMgy4hB6

Tags: Food, Hazaribagh news, Local18

Source : hindi.news18.com