भोजशाला का सर्वे रुकवाने SC पहुंचा मुस्लिम पक्ष, कल शुरू होगी ASI की कार्रवाई – News18

नई दिल्ली. मध्य प्रदेश के धार स्थित भोजशाला के सर्वे का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. भोजशाला के एएसआई सर्वे के मध्‍य प्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर बेंच के फैसले को मुस्लिम पक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है. मुस्लिम पक्ष ने 22 मार्च शुक्रवार से शुरू होने वाले सर्वे पर रोक लगाने की मांग करते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. मुस्लिम पक्ष कल मामले पर सुनवाई की मांग को सुप्रीम कोर्ट के सामने उठाएगा. मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के आदेश के मुताबिक भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) धार के विवादास्पद भोजशाला परिसर का वैज्ञानिक सर्वेक्षण शुक्रवार अलसुबह से शुरू करेगा.

एएसआई ऐसे वक्त में भोजशाला परिसर का वैज्ञानिक सर्वेक्षण शुरू करने जा रहा है, जब लोकसभा चुनावों की आदर्श आचार संहिता लागू है. भोजशाला का मसला सियासी रूप से भी संवेदनशील माना जाता है. अधिकारियों के मुताबिक एएसआई की ओर से स्थानीय पुलिस और प्रशासन को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि उच्च न्यायालय की इंदौर पीठ के आदेश के अनुसार भोजशाला परिसर का पुरातत्व सर्वेक्षण या वैज्ञानिक जांच अथवा खुदाई 22 मार्च (शुक्रवार) की अलसुबह से शुरू की जाएगी.

धार की भोजशाला में कल से शुरू होगा ASI सर्वे, जानें क्या है मामला, हाई कोर्ट ने क्या दिया था ऑर्डर

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
धार के पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने एएसआई का यह पत्र मिलने की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि भोजशाला परिसर में एएसआई के शुक्रवार अलसुबह से प्रस्तावित सर्वेक्षण के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं. एएसआई के संरक्षित ऐतिहासिक भोजशाला परिसर को हिन्दू वाग्देवी (सरस्वती) का मंदिर मानते हैं, जबकि मुस्लिम समुदाय इसे कमाल मौला की मस्जिद बताता है. उच्च न्यायालय की इंदौर पीठ ने 11 मार्च को सुनाए आदेश में कहा था कि ‘ इस अदालत ने केवल एक निष्कर्ष निकाला है कि भोजशाला मंदिर-सह-कमाल मौला मस्जिद परिसर का जल्द से जल्द वैज्ञानिक सर्वेक्षण और अध्ययन कराना एएसआई का संवैधानिक और कानूनी दायित्व है.’ अदालत ने ‘हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस’ नामक संगठन की अर्जी मंजूर करते हुए यह आदेश सुनाया था. मामले में अगली सुनवाई 29 अप्रैल को होनी है.

Tags: Madhya pradesh news, Madhya pradesh news live, Supreme Court, Supreme court of india

Source : hindi.news18.com