मूसेवाला के पिता का पंजाब सरकार पर आरोप, नवजात बेटे के जन्म से जुड़ा है मामला – News18

चंडीगढ़. दिवंगत पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने पंजाब सरकार पर दूसरे बेटे के जन्म को लेकर उन्हें परेशान करने का आरोप लगाया है. आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए आम आदमी पार्टी (आप) ने दावा किया कि केंद्र सरकार ने सिंह की पत्नी के आईवीएफ उपचार के बारे में रिपोर्ट मांगी थी. इस बीच, विपक्षी दल कांग्रेस ने आरोपों को लेकर पंजाब की ‘आप’ और केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना साधा. सिंह की पत्नी चरण कौर ने इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) प्रक्रिया के जरिए 17 मार्च को बेटे को जन्म दिया था. उनके बड़े बेटे शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला की दो वर्ष पहले पंजाब के मानसा जिले में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

सिंह ने मंगलवार को इस संबंध में इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट साझा की, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया कि प्रशासन उन्हें यह साबित करने के लिए परेशान कर रहा है कि बच्चा वैध है. जवाब में, ‘आप’ ने बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय का 14 मार्च का एक पत्र साझा किया, जिसमें कौर की गर्भावस्था के बारे में मीडिया में आई खबर का हवाला देते हुए उनके आईवीएफ उपचार का विवरण मांगा गया था. पत्र में बताया गया है कि सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी (विनियमन) अधिनियम, 2021 की धारा 21 (जी) (आई) के तहत, सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी अपनाने वाली महिला के लिए निर्धारित आयु सीमा 21-50 वर्ष है. मंत्रालय ने कौर की उम्र को चिह्नित करते हुए कहा है कि सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी (एआरटी) सेवाएं लेने वाली महिला के लिए आयु सीमा 21 से 50 वर्ष के बीच है. मूसेवाला के पिता की उम्र करीब 60 साल जबकि कौर की उम्र 58 साल है.

बच्चे का दस्तावेज मांग रहे
पत्र में कहा गया है, ‘इसलिए, आपसे अनुरोध है कि आप इस मामले को देखें और एआरटी (विनियमन) अधिनियम, 2021 के अनुसार इस मामले में की गई कार्रवाई की रिपोर्ट विभाग को सौंपें.’ सिंह ने एक वीडियो में कहा कि ‘दो दिन पहले ‘वाहेगुरु’ के आशीर्वाद और आपकी दुआएं से हमें हमारा शुभदीप (सिद्धू मूसेवाला) वापस मिल गया. लेकिन सुबह से ही प्रशासन मुझे परेशान कर रहा है. वह मुझसे बच्चे का दस्तावेज पेश करने के लिए कह रहे हैं. वे मुझसे कई सवाल पूछ रहे हैं. मुझसे यह साबित करने के लिए कह रहे हैं कि यह बच्चा वैध है.’ वीडियो में उन्होंने सरकार से अनुरोध किया, ‘खासकर सीएम ‘साहब’ (मुख्यमंत्री भगवंत मान) इलाज पूरा होने दीजिए. मैं यहीं का रहने वाला हूं और आप जहां भी बुलाएंगे, मैं वहां आऊंगा.’

दुखी हूं
उन्होंने कहा कि ‘मैं दुखी हूं. मैं आपको कड़े शब्दों में बता देना चाहता हूं अपनी बातों से पलटने की आदत आपकी है. आपके सलाहकार आपको ऐसी सलाह देते हैं… मैं अपनी बातों से पलटने वालों में से नहीं हूं.’ सिंह ने जोर देकर कहा कि उन्होंने किसी कानून का उल्लंघन नहीं किया है. उन्होंने वीडियो में कहा कि ‘अगर मैंने किसी कानून का उल्लंघन किया है तो मुझे सलाखों के पीछे भेज दो… मेरे खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करो, मुझे जेल में डालो और फिर जांच करो. मैं सभी कानूनी दस्तावेज उपलब्ध कराऊंगा.’ पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह ने कहा कि केंद्र ने ही राज्य सरकार को पत्र लिखा था, जो उसकी ‘खराब मानसिकता’ को दर्शाता है. उन्होंने कहा कि ‘आप’ के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने परिवार को परेशान नहीं किया.

वार-पलटवार की राजनीति
‘आप’ की पंजाब इकाई ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘भाजपा नीत केंद्र सरकार ने श्रीमती चरण कौर (दिवंगत सिद्धू मूसेवाला की मां) के आईवीएफ उपचार के संबंध में पंजाब सरकार से रिपोर्ट मांगी है.’ ‘आप’ ने कहा, ‘मुख्यमंत्री भगवंत मान हमेशा पंजाबियों की भावनाओं और गरिमा का सम्मान करते हैं, केंद्र सरकार ने ही दस्तावेज मांगे हैं.’ इस बीच, कांग्रेस की पंजाब इकाई के प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने मूसेवाला के पिता को ‘परेशान’ करने के लिए राज्य सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा कि ‘भगवंत मान जी, आप शायद एकमात्र पंजाबी हैं जिन्होंने अभी तक बलकौर सिद्धू जी को उनके बेटे के जन्म पर बधाई नहीं दी है और अब आपकी सरकार उन्हें कानूनी बाधाओं से परेशान कर रही है. आपसे अनुरोध है कि सिद्धू परिवार को परेशान करना बंद करें और उन्हें खुश होने दें.”

बेटे को पाकर भी क्यों परेशान हैं सिद्धू मूसेवाला के पिता? बलकौर सिंह ने क्यों कहा- प्लीज, इलाज हो जाने दीजिए

कांग्रेस मूसेवाला के माता-पिता के पक्ष में
पंजाब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष प्रताप सिंह बाजवा ने मूसेवाला के माता-पिता को ‘परेशान’ करने के लिए राज्य की ‘आप’ और केंद्र की भाजपा सरकार की आलोचना की. शिरोमणि अकाली दल के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि सिंह से दस्तावेज मांगना दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने राज्य सरकार पर परिवार को परेशान करने का आरोप लगाया. शुभदीप सिंह सिद्धू को सिद्धू मूसेवाला के नाम से जाना जाता है. 29 मई, 2022 को पंजाब के मनसा जिले में गायक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. उन्होंने 2022 में पंजाब विधानसभा चुनाव में मनसा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा था, लेकिन इसमें वह हार गए थे.

Tags: Punjab Government, Punjab news, Punjab Police, Sidhu Moose Wala

Source : hindi.news18.com