कहां से चला, कहां पहुंच गया सोना, जिसने 10000 का भी खरीदा, अब वो लखपति – News18

हाइलाइट्स

साल 1955 में 10 ग्राम सोने की कीमत महज ₹ 79 थी.
1970 से 80 तक के दस सालों में सोने के दाम 622% उछले.
साल 2010 से 2020 के दौरान सबसे ज्‍यादा तेजी आई.

नई दिल्‍ली. पूरी दुनिया में सोना (Gold) सदियों से लोगों को लुभाता रहा है. इसे निवेश का सबसे सुरक्षित तरीका भी माना जाता है. यही कारण है कि इसकी मांग में कभी कमी नहीं आई और न ही दाम में. कल यानी गुरुवार (21 मार्च) को भारत में सोना ऑल टाइम हाई पर पहुंच गया है. इंडिया बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन के मुताबिक, 10 ग्राम सोना 1,279 रुपए बढ़कर 66,968 रुपए (Gold Rate) पर पहुंच गया. वहीं, वायदा बाजार में भी सोना अपने उच्‍चतम स्‍तर 66,943 रुपये पर पहुंच गया. भारत में आजादी के बाद से अब तक सोने की कीमतों में बेतहाशा बढोतरी हुई है.

आपको जानकार हैरानी होगी की साल 1955 में 10 ग्राम सोने की कीमत महज ₹ 79 थी. 1960 से 70 तक सोने की कीमत में प्रति ग्राम 73 रुपये का ही इजाफा हुआ. लेकिन, 1970 से 80 तक के दस सालों में सोने के दाम 622 फीसदी उछले. वहीं, साल 2010 से 2020 तक सोने की कीमत में सबसे ज्‍यादा उछाल आया और प्रति दस ग्राम सोने का रेट करीब 30 हजार रुपये तक उछल गया.

ये भी पढ़ें-  Property Knowledge : स्‍टॉम्‍प ड्यूटी बचाने के चक्‍कर में कर लिया यह काम तो हाथ से निकल जाएगी प्रॉपर्टी

कब कितना था सोने का रेट
भारत में साल 1955 में 10 ग्राम सोने का भाव 79 रुपये था. 1960 में यह बढकर 111 रुपये हो गया. दस साल बाद यानी 1970 में 10 ग्राम सोने की कीमत ₹ 184 रुपये हो गई. 1980 में रेट 1330 रुपये हो गया. 1990 में भाव 3200 रुपये प्रति दस ग्राम तो साल 2000 में 4400 रुपये हो गया. इसी तरह साल 2005 में सोना 7,000 रुपये प्रति दस ग्राम हो गया. इसके पांच साल बाद यानी साल 2010 में सोने का भाव दोगुने से भी ज्‍यादा बढकर 18,500 रुपये हो गया. साल 2015 में गोल्‍ड रेट उछलकर 26,343 रुपये हो गया. साल 2020 में सोने का भाव 48,651 तो साल 2022 में 2022 56,100 रुपये हो गया. साल 2023 में सोने का भाव 61,100 रुपये पर पहुंच गया. अब यानी मार्च 2024 में दस ग्राम सोने का भाव 66,968 रुपए हो गया.

अब क्‍यों बढ़ रहे हैं सोने के दाम
बिजनेस स्‍टैंडर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक, एचडीएफसी सिक्योरिटी में कमोडिटी व करेंसी के हेड अनुज गुप्ता कहते हैं कि अमेरिका की केंद्रीय बैंक फेडरल रिज़र्व के 3 बार ब्याज दरें घटाने के बयान के बाद सोने चांदी की कीमतों में भारी तेजी दर्ज की गई है. इसके अलावा दुनियाभर में मंदी की आशंका, केंद्रीय बैंकों द्वारा सोने की भारी खरीद और शादी के सीजन में सोने की डिमांड बढ़ने से भी सोने की कीमतों को सहारा मिल रहा है.

Tags: Business news in hindi, Gold, Gold price, Gold Rate

Source : hindi.news18.com