रिजल्ट देख जोर से चिल्लाने लगी निशी, भागे-भागे परिवार के लोग पहुंचे कमरे में…पता चला – News18

सच्चिदानंद/पटना : बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने इंटरमीडिएट का रिजल्ट आज जारी कर दिया है. इस परीक्षा में लड़कियों ने बाजी मारी है. पासिंग पर्सेंटेज लड़कियों का ज्यादा है. 3 लाख 86 हजार 572 छात्राएं आर्ट्स संकाय की परीक्षा में शामिल हुईं थी, जिसमें पटना की रहने वाली निशी सिन्हा ने राज्य में दूसरा स्थान प्राप्त किया है. निशी को 473 अंक यानि 94.6 फीसदी अंक प्राप्त हुआ. आर्ट्स संकाय के लिए सबसे खास बात यह रही कि बिहार का फर्स्ट टॉपर और सेकंड टॉपर पटना कॉलेज ऑफ कॉमर्स के विद्यार्थी हैं. आर्ट्स संकाय में दूसरा स्थान प्राप्त करने वाली निशी सिन्हा ने बताया कि होली के दिन इतनी बड़ी खुशी मिली है. इसे बेहतर और क्या ही हो सकता था.

सेल्फ स्टडी आई काम
निशी ने बताया कि सुबह से रिजल्ट को लेकर उत्सुकता थी. बार बार टीवी खोलकर देख रही थी. टीवी पर जैसे ही मेरा नाम अनाउंस हुआ, पहले तो भरोसा ही नहीं हुआ. फिर दोबारा दिखा तब खुशी का ठिकाना नहीं रहा. मम्मी पापा तो खुशी के मारे रोने लगे. सेकंड टॉपर बनने के पीछे मंत्र का जवाब देते हुए निशी ने बताया कि कॉलेज के शिक्षकों का सपोर्ट और सेल्फ स्टडी से बेहतर अंक लाने में मदद मिली. यूट्यूब से भी घर पर पढ़ाई करती थी. ऐसे पढ़ने का कोई फिक्स्ड टाइम नहीं था, लेकिन जब भी समय मिलता था रिवीजन करती रहती थी.

यह भी पढ़ें : जिस स्कूल से पढ़े बिहार के चीफ सेक्रेटरी, वहीं का छात्र बना साइंस में स्टेट टॉपर, पिता बेचते हैं क्रीम-पाउडर

पॉलिटिकल साइंस से है प्यार, बनना है आईएएस
निशी बताती हैं कि पॉलिटिकल साइंस फेवरेट सब्जेक्ट है. इंडियन पॉलिटी पढ़ने में बहुत मजा आता था. अगला टारगेट दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिला लेना है और फिर सिविल सर्विसेज की तैयारी कर आईएएस बनने का सपना है. उन्होंने बताया कि टॉपर बनने के लिए हार्ड वर्क के पहले स्मार्ट वर्क करने की जरूरत है. आज मैं स्मार्ट वर्क की बदौलत ही इस रैंक पर हूं. बाकी विद्यार्थियों को टॉपर बनने का मंत्र देते हुए निशी ने बताया कि थोड़ा ही पढ़े, लेकिन लगातार पढ़ते रहें, गैप ना होने दें. कभी यह ना सोचे कि मुझसे ना हो पायेगा. जब मैं कर सकती हूं तो आप भी कर सकते हैं.

छलके माता पिता के आंसू, रिजल्ट देख चिल्लाने लगी निशी
निशी के पिता राजेंद्र प्रसाद यादव सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर के पद से रिटायर हैं. माता सुलेखा देवी गृहणी हैं. सुलेखा देवी ने बताया कि यह मेरे परिवार के लिए भावुक क्षण हैं. लोकल 18 से बात करते हुए भी निशी की मां भावुक हो गई. उनके आंखों से खुशी के आंसू छलक उठे.

उन्होंने बताया कि दोनों बहन टीवी और लैपटॉप के आगे बैठी हुई थी. रिजल्ट देख निशी जोर से चिल्लाने लगी. हम सभी डर गए. भाग कर जब कमरे में पहुंचे तो पता चला निशी सेकंड टॉपर बनी है. पिता को तो भरोसा ही नहीं हुआ. लेकिन बाद में भावुक हो गए. हमारा कोई बेटा नहीं है, लेकिन मेरी बेटियां बेटों से कम भी नहीं है.

Tags: Bihar News, Local18, PATNA NEWS

Source : hindi.news18.com