अनोखी परंपरा! बद्री विशाल को दिया जाता है ब्रज की होली में शामिल होने का न्योत – News18

सोनिया मिश्रा/ चमोली: ब्रज क्षेत्र की होली भारत ही नहीं बल्कि विश्व भर में मशहूर है. ब्रज की होली का संबंध भगवान श्री कृष्ण और राधा रानी से हैं. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान कृष्ण और राधा रानी गोपियों संग होली खेलते थे. इन दिनों पूरा ब्रज अबीर और गुलाल के रंगों से रंगीन है. यहां विशेष तौर पर लठमार होली, लड्डू होली, फलों वाली होली प्रसिद्ध है. ऐसे में भगवान बद्री विशाल को ब्रज की होली में न्योता देने के लिए (ब्रजवासी) अजय तिवारी अबीर और गुलाल लेकर चमोली स्थित नृसिंह मंदिर पहुंचे जो भगवान बद्रीनाथ का शीतकालीन गद्दी स्थल है. यहां पहुंचकर उन्होंने भगवान कृष्ण के रूप (नारायण) को पंडित के माध्यम से गुलाल भेंट किया और ब्रज की होली में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया.

उत्तराखंड के चमोली जिले में प्रसिद्ध बद्रीनाथ मंदिर स्थित है जिनका शीतकालीन गद्दी स्थल जोशीमठ स्थित नृसिंह मंदिर है. जहां पिछले 9 सालों से मथुरा के केशव देव मंदिर से महा प्रसाद के साथ अबीर और गुलाल लेकर अजय तिवारी पहुंचते हैं. इस बार भी अजय तिवारी 10 वीं बार पहुंचे हैं. उन्होंने मंदिर के पुजारी संजय डिमरी के सानिध्य में पूजा अर्चना कर भगवान को ब्रज की होली के लिए आमंत्रित किया.

एक दशक से कर रहे हैं परंपरा का निर्वहन
मथुरा निवासी अजय बताते हैं कि वह एक दशक से इस परंपरा का निर्वहन कर रहे हैं. वह कहते हैं कि हर साल मथुरा के केशव देव मंदिर की ओर से वह महाप्रसाद और अबीर गुलाल लेकर बद्री विशाल को ब्रज की होली में शामिल होने का निमंत्रण देते हैं. उन्होंने बताया कि वह अभी तक 105 से अधिक बार बद्री विशाल और नृसिंह मंदिर की यात्रा कर चुके हैं और होली परंपरा पर भगवान नारायण को न्योता देने की परंपरा का निर्वहन कर रहे हैं.

Tags: Chamoli News, Local18, Uttarakhand news

Source : hindi.news18.com