फूल-पत्ती से तैयार कर रहे जैविक खाद, लहलहा रहा इस कॉलोनी का गार्डन – News18

मोहन ढाकले/बुरहानपुर: किसान और गार्डन संचालित करने वाले अब जैविक खाद का सबसे अधिक प्रयोग करने लगे हैं. ऑर्गेनिक सब्जियों के बाद अब ऑर्गेनिक फल की ओर भी लोगों का रुझान बढ़ा है. अब लोग कॉलोनी के गार्डन को तैयार कर वहां फलदार वृक्ष लगा रहे हैं. उसमें जैविक खाद का उपयोग करते हैं, जिससे फलों का उत्पादन भी अच्छा होता है. यह स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होते हैं. बुरहानपुर में लोगों द्वारा पेड़-पौधों के पत्ते एकत्रित कर उससे जैविक खाद तैयार की जा रही है और गार्डन में इस्तेमाल किया जा रहा है.

कॉलोनी के बंटी ठाकुर ने लोकल 18 को बताया कि लालबाग के नारायण नगर में 10 वर्षों से गार्डन में पेड़-पौधों की पत्तियां और गोबर सहित घर के पूजा मंदिर से निकलने वाले फूलों से खाद तैयार की जाती है. गार्डन में दो दर्जन से अधिक फलदार वृक्ष लगे हैं. इन वृक्षों में यही खाद डालते हैं, जिससे फलों का अच्छा उत्पादन हो रहा है. यह स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं. कॉलोनी के लोग यहीं से फल तोड़कर ले जाते हैं. इसका कोई शुल्क नहीं है. महिला-पुरुष सभी लोग यहां पर अपना श्रमदान करते हैं.

गार्डन में दो दर्जन से अधिक वृक्ष
10 साल पहले 60 बाई 60 में एक गार्डन बनाया गया था, जहां पर पौधे लगाए गए थे. अब इन पौधों ने वृक्षों का रूप धारण कर लिया है. यहां पर जाम, जामुन, अनार, नींबू, पपीते के पौधे लगाए गए थे. ये सभी पौधे अब वृक्ष बन गए हैं.

कॉलोनी के 30 घरों से आती है पूजन सामग्री
कॉलोनी में 30 मकान हैं, जहां से पूजन में यूज किए जाने वाले फूल इस गार्डन में आते हैं. जिससे खाद बनाई जाती है. यह खाद सभी पौधों और वृक्षों में डालते हैं. आज तक गार्डन के लिए बाहर से किसी प्रकार की खाद का उपयोग नहीं किया गया है. आज भी गार्डन में सभी पौधे लहलहाते नजर आ रहे हैं.

Tags: Local18, Mp news

Source : hindi.news18.com