नहीं रहे रामकृष्ण मठ के अध्यक्ष स्वामी स्मरणानंद, पीएम मोदी ने जताया दुख – News18

Swami Smarananandaji Passes Away: रामकृष्ण मिशन और रामकृष्ण मठ के अध्यक्ष स्वामी स्मरणानंदजी का मंगलवार रात निधन हो गया. वे 95 वर्ष के थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है. मिशन ने एक बयान में कहा कि वह 2017 में रामकृष्ण मिशन के 16 वें अध्यक्ष बने थे. बयान में कहा गया, ‘रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन के परम पूज्य अध्यक्ष श्रीमत स्वामी स्मरणानंदजी महाराज ने आज रात 8.14 बजे महासमाधि ले ली.’ उन्हें संक्रमण के कारण 29 जनवरी को रामकृष्ण मिशन सेवा प्रतिष्ठान में भर्ती कराया गया था. बाद में उन्हें सांस लेने में समस्या होने लगी. इसके बाद उन्हें तीन मार्च को वेंटिलेटर पर रखा गया था.

पीएम मोदी का शोक संदेश
स्वामी स्मरणानंद काफी दिनों से उम्र संबंधी परेशानियों की वजह से बीमार चल रहे थे और रामकृष्ण मिशन के सेवा प्रतिष्ठान में उनका 29 जनवरी से इलाज चल रहा था. इस दौरान बंगाल दौरे के समय पीएम मोदी ने अस्पताल में उनका हाल-चाल जाना था. उन्होंने उनके लिए शीघ्र स्वास्थ्य होने की कामना की थी. स्मरणानंद के निधन के बाद पीएम मोदी ने एक्स पर लिखा, ” रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन के पूजनीय अध्यक्ष श्रीमत स्वामी स्मरणानंद जी महाराज ने अपना जीवन आध्यात्मिकता और मानव सेवा के लिए समर्पित कर दिया. उन्होंने अनगिनत दिलों और दिमागों पर अमिट छाप छोड़ी है. उनकी करुणा और बुद्धिमता पीढी दर पीढ़ी लोगों को प्रेरित करती रहेगी. पिछले कई सालों से मेरा उनके साथ नजदीक संबंध था. मैं 2020 में बेलूर मठ गया था तब उनके मुलाकात हुई थी. कुछ सप्ताह पहले भी हम अस्पताल में उनसे मिलने गए थे और उनके स्वास्थ्य का हालचाल जाना था. मेरी संवेदना बेलूर मठ के असंख्य श्रद्धालुओं के साथ है.

सीएम ममता ने जताया दुख
इधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक्स पर संवेदना जताते हुए लिखा है कि रामकृष्ण मिशन के अध्यक्ष स्वामी स्मरणानंदजी महराजा के निधन की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ. वे रामकृष्ण मिशन के अद्वितीय अध्यक्ष थे. वे महान भिक्षु थे. उन्होंने अपने पूरे जीवनकाल में दुनिया भर के रामकृष्ण मिशन के अनुयायियों को अपना आध्यत्मिक नेतृत्व प्रदान किया. पूरी दुनिया में रामकृष्ण मिशन के अनुयायियों के लिए वे हमेशा शांति के स्रोत बने रहेंगे. मैं रामकृष्ण मिशन के उनके भिक्षुओं, अनुयायियों और भक्तों से स्वामी स्मरणानंदजी के निधन पर अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करती हूं.

Source : hindi.news18.com