पाकिस्तान और नेपाल कितने राज्य, इस पड़ोसी देश में दुनिया में सबसे ज्यादा जिले – News18

हाइलाइट्स

बांग्लादेश में कोई राज्य नहीं है बल्कि प्रशासनिक इकाइयां हैं
नेपाल में 07 राज्य तो श्रीलंका में 09 प्रांत
भारत के पड़ोसियों में सबसे ज्यादा जिले इस देश में हैं, हजार से कुछ कम

भारत भौगोलिक तौर पर नौ देशों से घिरा है यानि ये देश इसके पड़ोसी हैं. इसमें सात देश ऐसे हैं जो जमीनी तौर पर भारत के बगल में हैं तो दो देश ऐसे हैं जो समुद्री तौर पर भारत के पड़ोस में हैं. इन देशों में अफगानिस्तान, पाकिस्तान, भूटान, नेपाल, म्यांमार, बांग्लादेश और चीन की सीमाएं हमारे देश को छूती हैं तो श्रीलंका और मालदीव समुद्री तौर पर पड़ोसी देशों में हैं. इसमें छोटे – बड़े सभी तरह के देश हैं. हम आपको आज ये बताएंगे कि इन देशों में कितने राज्य और जिले हैं.

सबसे पहले बात करते हैं पाकिस्तान की. 1947 से पहले पाकिस्तान दुनिया के नक्शे पर था ही नहीं. जब अंग्रेजों ने भारत को छोड़ते हुए आजादी दी तो इस बड़े देश को तीन हिस्सों में बांट दिया. पाकिस्तान को भारत के पश्चिमी और पूर्वी हिस्से में जगह मिली. हालांकि पाकिस्तान का पूर्वी हिस्सा खुद 1971 में अलग होकर नया देश बन गया.

पाकिस्तान में कितने राज्य और कितने जिले
क्या आपको मालूम है कि पाकिस्तान में कितने राज्य हैं और कितने विशेष इलाके. पाकिस्तान के 04 सूबे हैं. पंजाब, सिंध, बलोचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा. इनके अलावा आजाद कश्मीर और गिलगित-बल्तिस्तान भी उसके द्वारा नियंत्रित हैं. पाकिस्तान में कुल 170 ज़िले हैं. पाकिस्तान की भी शासकीय और प्रशासनिक संरचना भारत जैसी ही है.

नेपाल में भी जानिए कितने राज्य
नेपाल हालांकि पाकिस्तान से छोटा है लेकिन प्रशासनिक तौर पर उसने खुद को 07 राज्यों में बांटा हुआ है. ये हैं – कोसी, मधेस, बागमती, गंडकी, लुंबिनी, कर्णाली और सुदूरपश्चिम. इन सभी राज्यों में मुख्यमंत्री होते हैं और भारत की ही तरह राज्यों के भी चुनाव होते हैं. नेपाल में ये सात राज्य 20 सितंबर, 2015 को जारी नए संविधान के मुताबिक बनाए गए. नेपाल में कुल 77 ज़िले हैं.

नेपाल, दक्षिण एशिया का एक भूमि से घिरा देश है. यह मुख्य रूप से हिमालय में स्थित है. इसके उत्तर में तिब्बत की सीमा और दक्षिण, पूर्व और पश्चिम में भारत है. नेपाल की राजधानी काठमांडू है. नेपाल की आधिकारिक भाषाएं नेपाली और अंग्रेज़ी हैं.

बांग्लादेश में राज्य जरूर लेकिन प्रणाली अलग
भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में 08 राज्य हैं, जिन्हें डिवीज़न (विभाग) कहा जाता है. ये हैं – बरिशाल, चित्तोग्राम, ढाका, खुलना, राजशाही, रंगपुर, मैमनसिंह और सिलहट. बांग्लादेश में सरकार की एकात्मक प्रणाली है. इसमें किसी इकाई या प्रांत की ज़रूरत नहीं होती.

मतलब ये है कि वहां अलग अलग राज्प्रयों के ना तो चुनाव होते हैं और ना ही इनका कोई मुख्यमंत्री. इन्हें सीनियर प्रशासनिक अधिकारी ही चलाता है.

बांग्लादेश को 64 ज़िलों में बांटा गया है. हर ज़िले में औसतन 8 से 15 उपज़िले हैं. भारत के 05 राज्य बांग्लादेश के साथ सीमा साझा करते हैं: पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, त्रिपुरा, मिजोरम.

भूटान में कोई प्रांत नहीं
भूटान में कोई प्रांत नहीं है. ये छोटा सा देश 20 ज़ोंगखाग या ज़िलों में बंटा है. भूटान के स्थानीय लोग जिले को ज़ोंगखाग कहते हैं. ज़ोंगखाग को ‘मोंगर’ भी कहा जाता है. हर ज़ोंगखाग में कम से कम दो और अधिकतम 07 निर्वाचन क्षेत्र हैं.

नेशनल असेंबली निर्वाचन क्षेत्रों की संख्या 47 है.भूटान की सीमा चार भारतीय राज्यों से लगती है: सिक्किम, पश्चिम बंगाल, असम और अरुणाचल प्रदेश. भूटान की आबादी 7.5 लाख है. यहां की 75 फ़ीसदी आबादी बौद्ध धर्म का पालन करती है. वहीं 22.6 फ़ीसदी आबादी हिंदू है. भूटान को ‘ड्रुग युल’ भी कहा जाता है. इसका मतलब है ‘अज़़दहा का देश’.

म्यांमार में 07 राज्य और 07 मंडल
म्यांमार में 07 राज्य, 07 मंडल और एक केंद्र शासित प्रदेश (ने प्यी ताव) हैं. ये 07 राज्य हैं – चिन, काचिन, काया, कायिन, मोन, राखीन और शान. भारत और म्यांमार के बीच 1,643 किलोमीटर की सीमा है. भारत के 04 राज्य अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर और मिजोरम इस देश के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा साझा करते हैं. भारत और म्यांमार के बीच बंगाल की खाड़ी में एक समुद्री सीमा भी है.

म्यांमार में लगभग 135 जातीय समूहों के साथ आठ प्रमुख राष्ट्रीय जातीय नस्लें शामिल हैं. बामर सबसे बड़ी राष्ट्रीय जाति है जो पूरी आबादी का 70 फीसदी है तो 89.2 फीसदी आबादी बौद्ध है. म्यांमार में 74 ज़िले और 330 टाउनशिप हैं. म्यांमार को सात राज्यों और सात मंडलों में बांटा गया है. यहां राज्य वो इलाका है, जहां किसी खास जातीय अल्पसंख्यकों का निवास है तो मंडल में बर्मी लोगों की आबादी ज़्यादा है. म्यांमार में हिंदू धर्म चौथा सबसे बड़ा धर्म है.

श्रीलंका में क्या है स्थिति
श्रीलंका में 09 प्रांत हैं और 25 ज़िले. श्रीलंका के राज्यों के नाम इस तरह हैं – मध्य, पूर्वी, उत्तर मध्य, उत्तरी, उत्तरी पश्चिमी, सबरागमुवा, दक्षिणी, उवा और पश्चिमी. ये राज्य 1987 में श्रीलंकाई संविधान के 13 वें संशोधन द्वारा बनाए गए थे.

मालदीव में कितने प्रांत
मालदीव में वैसे तो छोटे-बड़े 1192 द्वीप हैं लेकिन ज्यादातर द्वीपों पर कोई नहीं रहता. वहां 7 प्रांत हैं. हर प्रांत में प्रशासकीय विभाग हैं. मालदीव सरकार ने प्रशासनिक उद्देश्यों के लिए इन प्रवाल द्वीपों को 21 प्रशासनिक प्रभागों में बांटा है. मालदीव के प्रवाल द्वीप लगभग 90,000 वर्ग किलोमीटर में फैले हुए हैं. इनमें से 200 द्वीपों पर बस्ती है.

अब चीन की बात
चीन दुनिया का तीसरा बड़ा देश है, इसका क्षेत्रफल 3,700,000 वर्ग मील है. ये 23 प्रांतों और 05 आटोनोमस क्षेत्रों में बंटा है. चीन में 913 जिले हैं. मंगोलिया, जिनियांग, निंगजिया, गुआंगशी और तिब्बत उसके स्वायत्तशासी क्षेत्र हैं. हांगकांग और मकाओ विशेष प्रशासनिक क्षेत्र हैं.

Tags: Bangladesh, China, India and Pakistan, India nepal, Sri lanka

Source : hindi.news18.com