चावल तो बहुत है लेकिन 'रेड राइस' का कोई जवाब नहीं, करता है हर अंग की मरम्मत – News18

Red Rice of Benefits: धरती पर करीब 40 हजार किस्म के चावल उपजाए जाते हैं. एशियाई देशों में चावल भोजन का मुख्य हिस्सा है. चावल बेशक कई किस्म के होते हैं लेकिन कुछ वैराइटी के चावल में फाइबर, प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट्स की उच्च मात्रा होती है. इन सबमें गुणों के मामले में लाल चावल या रेड राइस का कोई जवाब नहीं है. भारत में जो रेड राइस मिलता है वह काफी मोटा होता है, इसलिए अधिकांश लोग इसे पसंद नहीं करते लेकिन अगर आप भी ऐसा करते हैं तो आप बहुत बड़ी गलती कर रहे हैं. चावलों में ब्राउन राइस और ब्लैक राइस की तो चर्चा की जाती है लेकिन रेड राइस की चर्चा बहुत कम होती है लेकिन रेड राइस में हार्ट डिजीज और ब्लड शुगर से लेकर कई बीमारियों पर ब्रेक लगाने की शक्ति होती है.

खास तरह के पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट्स
पबमेड सेंट्रल जर्नल के मुताबिक रेड राइस में भी हिमालयन रेड राइस और थाई रेड कार्गो राइस सबसे ज्यादा ताकतवर होता है. रिसर्च के मुताबिक रेड राइस बहुत अधिक पिगमेंटेड होता है और इसमें सघन पोषक तत्व और प्लांट कंपाउड प्रभावशाली कॉम्बिनेशन होता है. लाल चावल में सफेद चावल की तुलना में बहुत अधिक प्रोटीन और फाइबर होता है. रेड राइस में फ्लेवेनोएड एंटीऑक्सीडेंट्स जैसे कि एंथोसाइनिन, एपीजेनिन, माइरासेटिन और क्विरसेटिन होते हैं जो कई बीमारियों के लिए काल है. रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि फ्री रेडिकल्स को खत्म करने में लाल चावल से बढ़कर कुछ नहीं है. फ्री रेडिकल्स का खत्म होना यानी कैंसर, हार्ट डिजीज, डायबिटीज जैसी बीमारियों का खत्म होना है.

वजन कम करने में बेहद फायदेमंद
फ्लेवेनोएड शरीर में इंफ्लामेशन को खत्म करता है. इंफ्लामेशन के कारण सेल्स में सूजन होने लगती है जो कैंसर, गठिया, ज्वाइंट पेन, डायबिटीज और हार्ट डिजीज सहित कई बीमारियों का कारण है. ऐसे में अगर आप नियमित लाल चावल का सेवन करेंगे तो इन बीमारियों का खतरा बहुत कम रहेगा. चूंकि रेड राइस में फाइबर की मात्रा बहुत रहती है और इसमें स्टार्च भी खूब रहता है. इसलिए यह पेट को साफ करने में बहुत गुणी है. वहीं यह शरीर में एनर्जी को भी कम नहीं होने देता है. रेड चावल का सेवन करेंगे तो शरीर में ताकत की कमी नहीं रहेगी और हड्डियां फौलाद बन जाएगी. रेड राइस में पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम होता है जो सांस संबंधी दिक्कतों को दूर करने के लिए जरूरी है. इसलिए रेड राइस अस्थमा मरीजों के लिए भी बहुत लाभकारी है.

स्किन में लाता है निखार
जो लोग वजन कम करना चाहते हैं, उनके लिए भी रेड राइस बहुत फायदेमंद है क्योंकि यह डाइजेशन को बूस्ट करने के साथ ही भूख पर भी नियंत्रण रखता है. रेड राइस का सेवन हाई कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मदद करता है. वहीं यह ब्लड प्रेशर और ब्लड शुगर दोनों को कम करता है. इससे हार्ट डिजीज का खतरा कम हो जाता है. रेड राइस में पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट एंथोसाइनिन होता है जो स्किन को अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाता है. इसलिए यह स्किन को प्रीमेच्योर होने से रोकता है. ऐसे में रेड राइस से चेहरे पर सुंदरता लाई जा सकती है.

इसे भी पढ़ें-पूरे जीवन को सुधार देगा ओकरा का पानी, बनने वाला है अगला सुपरफूड ड्रिंक, झट से साफ होगा पेट, वजन पर लगेगा लगाम

इसे भी पढ़ें-ये लो, विज्ञान ने निकाल दिया खुश रहने का सिंपल तरीका, ये हैं साइंस ऑफ हैप्पीनेस के 7 सूत्र, जिम जाने से बेहतर फायदा

इसे भी पढ़ें-दिन भर सुपरचार्ज रहने के लिए सिर्फ 2-4 चम्मच ही काफी, रोज मिल गया तो टेंशन खत्म, जानें क्या है वह चीज

Tags: Health, Health News, Health tips, Lifestyle

Source : hindi.news18.com