कमाल की औषधि है यह नशीला पौधा, सिरदर्द से लेकर तनाव को करता है छूमंतर – News18

विशाल भटनागर/मेरठः प्रकृति द्वारा हमें विभिन्न प्रकार ऐसे पेड़ पौधे उपलब्ध कराए गए हैं. जो औषधि का काम करते हैं. लेकिन कई पौधों का कुछ लोगों द्वारा गलत तरीके से उपयोग करना शुरू कर दिया है. कुछ इसी तरह का उल्लेख भांग के पौधे का भी मिलता है. भांग के आयुर्वेदिक महत्व की बात की जाए, तो यह विभिन्न प्रकार की बीमारियों को दूर करने में काफी सहायक माना जाता है. लेकिन जिस प्रकार इस पौधे का लोग नशे के तौर पर उपयोग करने लगे हैं. उससे कहीं ना कहीं आमजन के बीच इस मेडिसिन पौधे का महत्व समाप्त हो गया है.

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के बॉटनी विभागाध्यक्ष प्रोफेसर विजय मलिक ने लोकल-18 से बातचीत में बताया कि अगर किसी भी व्यक्ति को मानसिक संतुलन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या है, तो ऐसे सभी लोगों के लिए भी भांग बेहद लाभदायक है. भांग की पत्तियों को पीसकर उसका लेप बनाकर अगर हम मानसिक रोगी के पैरों के तलवे के नीचे रात को सोते समय मालिश कर दें. तो इससे मानसिक रोगी को काफी राहत मिलती है. इतना ही नहीं अगर किसी व्यक्ति को नींद से संबंधित कोई भी समस्या है. तो उस व्यक्ति के तलवे पर भी अगर रात के समय इसी तरीके से लेप लगा दिया जाए. तो नींद भी बेहतर आएगी. क्योंकि इसमें विभिन्न प्रकार कैसे औषधीय गुण पाए जाते हैं जो कि मनुष्य को तनाव से दूर करने में लाभदायक होते हैं.

सिर दर्द के लिए भी है बेहद उपयोगी
आज के दौर में देखने को मिलता है कि लोगों के सिर में दर्द की समस्या भी बनी रहती है. जिससे वह काफी परेशान दिखाई देते हैं और उसके लिए कई तरह की दवाइयों का भी उपयोग करते हैं. वहीं अगर भांग का औषधि के तौर पर उपयोग करते हुए इसकी पत्तियों को पीसकर उसका अर्क निकाला जाए और इस अर्क को प्रतिदिन कान में एक या दो बूंद डाला जाए, तो उसे सिर दर्द से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाता है.

बीज में भी मिलते हैं विभिन्न विटामिन
प्रो. मलिक कहते हैं भले ही भांग के पौधे को नशीले तौर पर जाना जाता हो, लेकिन फीमेल भांग के पौधे के जो बीज होते हैं. उसमें किसी भी प्रकार का कोई नशा नहीं माना जाता है. वह कहते हैं कि अगर इसके सीड्स का उपयोग लोग अपने डाइट के तौर पर करने लगे, तो उन लोगों को काफी फायदा मिलेगा. क्योंकि इसमें विभिन्न प्रकार के ऐसे विटामिन मौजूद रहते हैं. जो की दिल को स्वस्थ रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. साथ में विभिन्न प्रकार के औषधीय गुण भी पाए जाते हैं, जो बीमारी को दूर करने में काफी सहायक होते हैं. बता दें कि भांग की पत्तियों को किसी भी प्रकार के खाने में उपयोग न करें. इसका सीमित मात्रा में ही उपयोग करें. क्योंकि जब हम किसी भी वस्तु का अधिक मात्रा में उपयोग करने लगते हैं. तो उससे कहीं ना कहीं हमें नुकसान ही देखने को मिलता हैं.

Tags: Health benefit, Hindi news, Local18, UP news

Disclaimer: इस खबर में दी गई दवा/औषधि और स्वास्थ्य से जुड़ी सलाह, एक्सपर्ट्स से की गई बातचीत के आधार पर है. यह सामान्य जानकारी है, व्यक्तिगत सलाह नहीं. इसलिए डॉक्टर्स से परामर्श के बाद ही कोई चीज उपयोग करें. Local-18 किसी भी उपयोग से होने वाले नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होगा.

Source : hindi.news18.com