पलामू में यहां मिलेगा उड़ीसा और छत्तीसगढ़ का खास तरबूज, यह है रेट – News18

शशिकांत ओझा/पलामू : गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है. ऐसे में सेहत का बेहद खास ख्याल रखना जरूरी होता है. शरीर में पानी की कमी से डिहाइड्रेशन भी हो सकता है. इस मौसम में पानी के लेबल को बनाए रखने और पोषक तत्वों से भरा पूरा चीज खाने की जरूरत होती है. ऐसे में तरबूज शरीर में पानी के लेबल को बनाए रखता है. यह गर्मी के मौसम में रामबाण है.इसके साथ साथ कई रूप में लाभदायक होता है. अभी से ही जगह जगह बाजार में ठेले और फल दुकान में तरबूज दिखने लगे हैं. मगर क्या आप जानते हैं पलामू में इसकी थोक दुकान भी सजता है. तो आइए जानते हैं कहां से खरीद सकते हैं थोक दाम पर तरबूज.

दरअसल, गर्मी के मौसम आते ही पलामू जिला मुख्यालय मेदिनीनगर का कचहरी रोड तरबूज से सज जाता है. कचहरी चौक (शहिद चौक) से छह मुहान चौक रोड तक जगह जगह तरबूज के थोक विक्रेता दुकान सजाए रहते है. यहां 15 थोक विक्रेता हर दिन प्रति दुकानदार लगभग 10 से 15 क्विंटल तरबूज की हर दिन बिक्री करते है. मगर मौसम खराब के कारण इसकी अभी 5 क्विंटल हीं हो रही है. थोक विक्रेता समी अख्तर बताते है की कचहरी रोड में तरबूज के 15 थोक विक्रेता है. मौसम खराब होने के कारण एक पिकअप तरबूज की बिक्री करने में 3 से 4 दिन लग रहे है. वहीं रमजान के सामान्य महीने में एक पिकअप तरबूज दो दिन में विक्री हो जाते है.

थोक दाम में खुदरा मिलता है तरबूज
थोक विक्रेता एमडी समीम ने बताया की कचहरी रोड में पिछले पांच साल से तरबूज का थोक बिक्री करते हैं. 20 रुपए किलो खुदरा और थोक में 18 रुपए किलो तरबूज की अभी बिक्री की जा रही है. मौसम खराब होने के कारण बिक्री में कमी आई है. एक दिन में लगभग 5 से 7 क्विंटल बिक्री हो रहा है. मौसम ठीक होने पर 20 से 25 क्विंटल हर दिन बिक्री होता है. यह तरबूज किरण प्रभेद का है जो कि बेहद लाल और खाने में मीठा लगता है. यह स्वाद में भी अच्छा रहता है.

उड़ीसा और छत्तीसगढ़ से आता है तरबूज
आगे बताया की यह तरबूज उड़ीसा और छत्तीसगढ़ से मंगाया जाता है.जो की लोगों को थोक दाम पर दिया जाता है. सुबह के 9 बजते ही सभी दुकान सज जाता है. यह दुकान शाम 6 बजे तक खुला रहता है. रमजान के महीने में इसकी सबसे ज्यादा डिमांड होती है.

Tags: Jharkhand news, Local18, Palamu news

Source : hindi.news18.com