बुर्के की आड़ में नहीं हो पाएगी फर्जी वोटिंग! बीजेपी ने तैयार किया खास प्लान – News18

हाइलाइट्स

हर चुनाव में फर्जी मतदान राजनीतिक दलों के लिए एक बड़ा मुद्दा बनता है
मुस्लिम इलाकों में बुर्का नशीं महिलाओं के फर्जी वोटिंग पर सवाल उठाए जाते हैं

प्रयागराज. देश में सात चरणों में होने वाले लोकसभा चुनाव का काउंटडाउन शुरू हो चुका है. हर चुनाव में फर्जी मतदान राजनीतिक दलों के लिए एक बड़ा मुद्दा बनता है. खास तौर पर मुस्लिम इलाकों में बुर्का नशीं महिलाओं के फर्जी वोटिंग पर सवाल उठाए जाते हैं. लेकिन किसी पुरुष ऐजेंट द्वारा महिलाओं के चेहरे से नकाब हटाकर नहीं देखा जा सकता है. इस बार के लोकसभा चुनाव में फर्जी वोटिंग को रोकने के लिए बीजेपी ने खास रणनीति तैयार की है. मुस्लिम इलाकों में बुर्के में मतदान करने वाली महिलाओं को फर्जी वोटिंग से रोकने के लिए भाजपा मुस्लिम महिलाओं की ही एक ब्रिगेड तैयार कर रही है. इस महिला ब्रिगेड को बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चे की ओर से प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है.

बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चे से प्रशिक्षण पाने वाली मुस्लिम महिलाएं मतदान के दिन बूथों पर एजेंट के तौर पर काम करेंगी. बीजेपी की यह मुस्लिम महिला ब्रिगेड मतदान केंद्रों व बूथों पर आने वाली संदिग्ध महिलाओं के चेहरे से नकाब हटाकर उनकी पहचान करेगा. इसके साथ ही साथ वोटर आईडी कार्ड और मतदान के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा अधिकृत दूसरे प्रपत्र का भी मिलान करेंगी. ताकि लोकतंत्र के इस महापर्व में किसी भी तरह से फर्जी वोटिंग ना हो सके.

केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं से प्रभावित हैं मुस्लिम महिलाएं
इस अभियान से जुड़ी सबसे खास बात यह है कि खुद मुस्लिम महिलाएं जहां केंद्र और प्रदेश सरकार की योजनाओं को देखते हुए बीजेपी से जुड़ रही हैं, तो वहीं फर्जी वोटिंग से बीजेपी को किसी तरह से नुकसान ना हो इसके लिए प्रशिक्षण भी ले रही हैं. मुस्लिम महिला समरीन फातिमा का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने सरकारी योजनाओं में किसी तरह का कोई भेदभाव नहीं किया है. मुस्लिम महिलाओं को भी उज्जवला गैस कनेक्शन और प्रधानमंत्री आवास जैसी योजनाओं का लाभ मिला है. तो वहीं हर महीने राशन भी सरकार उपलब्ध करा रही है. मुस्लिम महिला नीलोफर का कहना है कि इन सबसे बढ़कर केंद्र की मोदी सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को हलाला और तीन तलाक से आजादी दिलाई है. मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि पिछले करीब 5 वर्षों से वह बीजेपी के साथ जुड़कर काम कर रही हैं, लेकिन 2024 के लोकसभा चुनाव में वह बीजेपी के फर्जी वोटिंग रोकने के मुहिम का इसलिए भी हिस्सा बनना चाहती हैं ताकि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीसरी बार पीएम के रूप में देश की कमान संभाले.

पहले बैच की 25 मुस्लिम महिलाओं को ट्रेनिंग
मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास और सबके प्रयास की बात करते हैं. उनकी यही बात देश और दुनिया के दूसरे नेताओं से उन्हें अलग करती है. मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं तो मुमकिन है. प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ की वजह से महिलाएं खुद को सुरक्षित महसूस कर रही है. वहीं महिलाओं को प्रशिक्षण दे रहे भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के पूर्व पदाधिकारी राहिल हसन का कहना है कि फर्जी वोटिंग को रोकने के लिए पहले बैच की 25 मुस्लिम महिलाओं को ट्रेनिंग दे दी गई है. उनके मुताबिक आने वाले दिनों में और भी महिलाओं को इस मुहिम से जोड़ा जाएगा ताकि मुस्लिम इलाकों में बुर्का नशीं महिलाओं द्वारा फर्जी वोटिंग की संभावना को ही पूरी तरह से समाप्त किया जा सके.

Tags: 2024 Lok Sabha Elections, Loksabha Election 2024, Loksabha Elections

Source : hindi.news18.com