बिना पासपोर्ट करें इस देश की यात्रा, गोरखपुर से 370km दूर; घूमने के लिए बेस्ट – News18

रजत भटृ/गोरखपुरः गर्मियों का सीजन शुरू होते ही लोग पहाड़ की वादियों में घूमने फिरने के लिए बेकरार हो जाते हैं. कई लोग वीकेंड पर प्लान करते हैं, तो कई लोग निकल चुके होते है. आज यहां विदेश की ऐसी पांच जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो यूपी से ज्यादा दूर नहीं है. यहां आप पहाड़ों के साथ खूबसूरत वादियों का आनंद ले सकते हैं. इसके लिए आपको कम पैसे भी देने होंगे. यहां जाने के लिए किसी वीजा, पासपोर्ट का झंझट नहीं होगा. यह भारत का पड़ोसी देश नेपाल है, जहां गर्मियों में बेहद शानदार नजारे की अनुभूति होगी.

नगरकोट
भारत से नेपाल जाने के लिए महाराजगंज बॉर्डर पर रुक कर भंसार और परमिट बनवाने के बाद आप सीधे काठमांडू पहुंचे. काठमांडू से 33 किलोमीटर दूरी पर मौजूद नगरकोट स्थित है, जो समुद्र तल से लगभग 2195 मीटर ऊपर बसा हुआ है. यहां आपको शानदार पहाड़ की वादियां दिखेंगी. यहीं पर हिमालय के बीच उगते सूरज और डूबते सूरज का भी आपको दृश्य मिलेगा, जो बेहद शानदार होगा.

पोखरा
गर्मियों में अगर आप शानदार वाटरफॉल का नजारा लेना चाहते हैं, तो नेपाल की सबसे खूबसूरत जगह पोखरा है. यहां आपको देवी फाल और फेवा झील देखने को मिलेगा. फेवा झील नेपाल की सबसे बड़ी झील में से एक है. यहां पर आपको देवी वाटरफॉल भी देखने को मिलेगा. पोखरा में ही आप शानदार नौकायन का भी आनंद ले सकते हैं.

डिगबोच गांव
नेपाल के सोलुखुम्बु जिले में स्थित एक गांव डिगबोच है. इसे नेपाल की सबसे ठंडी जगह माना जाता है. यहां पर आपको पहाड़ और वादियों के खूबसूरत नजारे देखने को मिलेंगे.

तानसेन पाल्पा
नेपाल में गर्मियों में शानदार पहाड़ की वादियों में घूमने के लिए ‘तानसेन पाल्पा’ एक शानदार जगह है. यहां से आपको श्रीनगर की पहाड़ी से हिमालय तक के शानदार दृश्य देखने को मिलेंगे. यहां आप नेपाल की सबसे खास बाजार का भी मजा ले सकते हैं, जिसे ‘तानसेन’ बाजार के नाम से जाना जाता है.

चितलांग
गर्मियों में नेपाल की सबसे खास जगह चितलांग है, जो हरी भरी पहाड़ियों के बीच बसा है. यहां पर आपके मन को शांति मिलेगी. यहां आप नौकायन का मजा ले सकते हैं. कैंपेनिंग के साथ यहां पर माउंटेन बाइकिंग का भी लुफ्त उठा सकते हैं. यह पहाड़ों से घिरी बेहद शानदार जगह है, जो आपको गर्मियों में बेहद खास मजा देगी.

Tags: Gorakhpur news, Local18

Source : hindi.news18.com