पीएफ की छोटी बहन है ये स्कीम, पीपीएफ से ज्यादा रिटर्न, उससे कम लॉक इन पीरियड – News18

हाइलाइट्स

वीपीएफ में निवेश पर पीएफ जितना ही रिटर्न मिलता है.यह पीपीएफ के मुकाबले कई मामलों में बेहतर है.इसका लॉक इन पीरियड केवल 5 साल का होता है.

नई दिल्ली. अगर आप नौकरीपेशा व्यक्ति हैं और आपका पीएफ कट रहा है तो आपके लिए उसी से जुड़ी एक बेहद शानदार बचत स्कीम है. इसमें आपको कोई अलग से अकाउंट नहीं खोलना होता. बस आपके पास पीएफ अकाउंट होना चाहिए. यह पीएफ का ही एक्सटेंशन है जिसका नाम वीपीएफ या वॉलेंटरी रिटायरमेंट फंड है. इसमें आप पीएफ के अलावा भी निवेश कर सकते हैं. इसका रिटर्न भी पीएफ जितना ही होता है. जो फिलहाल 8.15 फीसदी है.

वीपीएफ में हर वह व्यक्ति निवेश कर सकता है जिसके पास ईपीएफ अकाउंट है. इसमें आप पीएफ से ज्यादा निवेश कर सकते हैं. उदाहरण के लिए आफ ईपीएफ में अपनी बेसिक सैलरी का 12 फीसदी और डीए निवेश कर सकते हैं. दूसरी ओर, वीपीएफ में आप अपनी बेसिक सैलरी का 100 फीसदी और पूरा डीए निवेश कर सकते हैं. इस मामले में यह एनपीएस से भी आगे निकल जाती है. एनपीएस में आप डीए के साथ बेसिक सैलरी का केवल 10 फीसदी की लगा सकते हैं.

ये भी पढ़ें- 3000 करोड़ का आईपीओ ला रही होम लोन देने वाली कंपनी, कब से लगेगी बोली, कितनी होगी कीमत, सबकुछ पढ़ें यहां

लॉक इन पीरियड
बात की जाए लॉक इन पीरियड तो एक तरफ जहां पीएफ में रिटायरमेंट या जब तक नौकरी न चली जाए तब तक आप पूरा पैसा नहीं निकाल सकते. एनपीएस में भी आपको रिटायरमेंट तक का निवेश करना होता है. आप थोड़ा बहुत पैसा कुछ सालों बाद निकाल सकते हैं. लेकिन वीपीएफ में लॉक इन पीरियड बस 5 साल का ही होता है. आप इसके बाद पूरा पैसा बाहर निकाल सकते हैं.

टैक्स बेनेफिट
टैक्स डिडक्शन के मामले में भी यह पीएफ के समान ही है. वहां भी 1.5 लाख रुपये तक के निवेश पर टैक्स छूट का दावा कर सकते हैं. वीपीएफ में भी आप 1.5 रुपये तक के निवेश पर टैक्स डिडक्शन क्लेम कर सकते हैं. वीपीएफ के तहत किए गए निवेश पर इनकम टैक्स की धारा 80सी के तहत टैक्स छूट क्लेम की जाती है.

पीपीएफ बनाम वीपीएफ
यह कई मामलों में पब्लिक प्रोविडेंट फंड से भी बेहतर है. पीपीएफ में आपको निवेश पर 7.1 फीसदी का रिटर्न मिलता है जबकि यहां आपको 8.15 फीसदी का रिटर्न दिया जा रहा है. वहीं. पीपीएफ में लॉक इन पीरियड 15 साल का है जबकि वीपीएफ में यह केवल 5 साल का होता है.

Tags: Business news in hindi, Investment, Investment and return, Investment tips

Source : hindi.news18.com