यह दुनिया का सबसे अमीर कैदी, 3.59 लाख करोड़ की संपत्ति का मालिक – News18

हाइलाइट्स

क्रिप्टो मार्केट में चांगपेंग झाओ को CZ के नाम से जाना जाता है.कोर्ट में चांगपेंग झाओ ने अपनी गलती मान ली थी.अमेरिकी कोर्ट ने झाओ को चार महीने जेल की सजा सुनाई है.

नई दिल्‍ली. क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज बाइनेंस के फाउंडर और पूर्व सीईओ चांगपेंग झाओ (Binance Founder Changpeng Zhao) को अमेरिका की एक अदालत ने चार महीने जेल की सजा सुनाई गई है. झाओ को बाइनेंस में एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग कानूनों के उल्लंघन का दोषी ठहराया गया है. साथ ही उन पर साइबर क्रिमिनल्स, आतंकवादी समूहों और बच्‍चों का शोषण करने वाले लोगों को अपने प्लेटफॉर्म से व्यापार करने की अनुमति देने के आरोप भी लगे हैं. क्रिप्टो मार्केट में चांगपेंग झाओ को CZ के नाम से जाना जाता है. झाओ अमेरिका में और संभवतः दुनियाभर में जेल जाने वाले सबसे अमीर व्यक्ति (world’s Richest Prisoner) हैं. ब्लूमबर्ग के अनुसार झाओ की नेटवर्थ 43 बिलियन डॉलर करीब (3.59 लाख करोड़ रुपए) है. झाओ चीनी मूल के कनाडाई बिजनेसमैन, निवेशक और सॉफ्टवेयर इंजीनियर है.

पिछले साल नवंबर में अमेरिकी अटॉर्नी जनरल मेरिक गारलैंड ने दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज बाइनेंस पर 4.3 बिलियन डॉलर (करीब 35 हजार करोड़ रुपए) का जुर्माना लगाते हुए कहा था, ‘अपने अपराधों के कारण बाइनेंस दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो एक्सचेंज बना. इस फैसले के बाद झाओ को बायनेंस से इस्तीफा देना पड़ा था. साथ ही अगले 3 साल तक कंपनी में कोई प्रबंधकीय पद लेने पर रोक लगा दी थी.

ये भी पढ़ें- ताला बनाने के लिए बनी थी गोदरेज, आज 50 देशों में फैला है 20 तरह का कारोबार, अब ग्रुप का हो गया बंटवारा

झाओ ने मानी गलती
कोर्ट में झाओ ने अपनी गलती मान ली थी. उन्‍होंने कहा, “मैं एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग अधिनियम को लागू करने में विफल रहा. ‘मुझे खेद है. मुझे लगता है कि जिम्मेदारी लेने का पहला कदम गलतियों को पूरी तरह से पहचानना है. बायनेंस में मैं एंटी-मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट को लागू करने में विफल रहा, मुझे इस गलती की गंभीरता का एहसास है.” बाइनेंस पर एक बहुत बड़ा आरोप “आतंकवादी फंडिंग” को नजरअंदाज करने का भी है. आरोप है कि फिलीस्तीनी मिलिटेंट ग्रुप हमास से जुड़े कुछ संदिग्ध लेनदेन थे, जिसे बाइनेंस ने रिपोर्ट नहीं किया.

2017 में की थी बाइनेंस की शुरुआत
चांगपेंग झाओ ने बाइनेंस की शुरुआत 2017 में की थी. यह दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज है. बाइनेंस की स्‍थापना के बाद झाओ ने कई क्रिप्‍टोएक्‍सचेंज का अधिग्रहण किया. अब वे सब इसके इकोसिस्टम का हिस्‍सा है. इसके अलावा बायनेंस के पास खुद की क्रिप्टोकरेंसी, कई क्रिप्टो वॉलेट और नई क्रिप्टोकरेंसी को लॉन्च करने वाला एक लॉन्चपैड भी है.

Tags: Business news in hindi, Cryptocurrency, World Richest Person

Source : hindi.news18.com