प्यार करके शादी करना पाप है तो यही सही…युवक-युवती एक दूसरे के हुए, मगर अब… – News18

हाइलाइट्स

गांव की लड़की से लव मैरिज एक युवक को पढ़ रहा महंगा. घर से बेघर हुआ, पत्नी-बच्चे संग खा रहा दर-दर की ठोकर.

जमुई. जिले के एक युवक को अपनी ही जाति के गांव की लड़की के साथ प्यार और फिर भाग कर लव मैरिज करना भारी पड़ रहा है. दो साल पहले शादी के बाद से ही इस युवक को उसके परिवार वालों ने बेघर कर दिया. गांव की ही लड़की से प्यार करना और फिर उसके साथ शादी रचाने के बाद यह युवक दो साल से दर-दर की ठोकर खाने को मजबूर है. पत्नी और अपने एक साल के बच्चे के साथ अपना हक पाने के लिए यह युवक लोगों से गुहार लगा रहा है. वह चाहता है कि उसे न्याय मिले उसे अपने घर में रहने दिया जाए.

दरअसल, जमुई जिले के बरहट इलाके के गूगूलडीह गांव का अविनाश और पुष्पा अपने-अपने पिता की दुकान संभालते- संभालते एक दूसरे को दिल दे बैठे थे. लगभग 8 साल तक एक दूसरे से प्यार करने के बाद दोनों ने घर से भाग कर 2022 में शादी रचा ली. अविनाश के घर वाले की शादी को नहीं माने और घर से बेघर कर दिया. अविनाश अपने परिवार वालों से हक मांग रहा है वहीं उसकी पत्नी पुष्पा अपने पति और बच्चे का.

अविनाश ने बताया कि उसके पिता का गुगुलडीह बाजार में दवा की दुकान है. ठीक उसके सामने पुष्पा के पिता का चाय की दुकान लगती है. दोनों पड़ोसी भी हैं. जरूरी काम से पिता के जाने के बाद दुकान को उसे ही संभालना पड़ता था, यही स्थिति पुष्पा के साथ थी उसके पिताजी भी जब किसी काम से कहीं चले जाते थे तो वह पिता की चाय की दुकान को संभालती थी. दुकान संभालने के दौरान ही दोनों में दोस्ती हुई और फिर वह दोस्ती प्यार में बादल गई.

8 साल का प्यार चढ़ा परवान और एक दूसरे के हो गए

लगभग 8 साल तक दोनों एक दूसरे से प्यार करते रहे. लव अफेयर को आगे बढ़ाते हुए, परिवार वालों को जब पता चला तब उनके मना करने पर 2022 के मार्च महीने में शादी की नीयत से दोनों घर से भाग गए और फिर पत्नेश्वर नाथ शिव मंदिर में पहले शादी रचाई और फिर कोर्ट मैरिज भी किया. शादी के बाद जब वे लोग घर लौटे तब उसके पिता और भाइयों ने घर में घुसने से मना कर दिया. अविनाश ने यह भी बताया कि इस शादी में दहेज नहीं मिला इसी कारण उसके घर वाले नाराज होकर उसे बेघर कर दिया. तब से वह दर-दर की ठोकर खा रहा है.

शादी के दो साल और एक साल का बेटा, मगर…

अब एक बेटा भी हो गया जिसकी उम्र 1 साल 2 महीने हो गयी. परिवार वाले जब बेघर कर दिए तब वह अपनी पत्नी को लेकर कभी इस गांव में तो कभी उसे गांव में किसी के सहारे या फिर किराए के मकान में रह रहा है. वह चाहता है कि उसे हक मिले उसे अपने घर में प्रवेश मिले क्योंकि संपत्ति में उसका भी हिस्सा है. वह प्यार करके शादी किया है कोई पाप नहीं किया.

घरवालों से अपील पर अपील पर सुनवाई नहीं

अविनाश की पत्नी पुष्पा ने बताया कि दोनों के बीच कई साल तक प्रेम प्रसंग चलने के बाद वह शादी रचाई. अविनाश के बगैर वह जिंदगी नहीं जी सकती थी. इस लव मैरिज को उसके परिवार वालों ने तो मान लिया, लेकिन अविनाश के घर वाले अभी भी अपनी जिद पर अड़े हैं. वह चाहती है कि उसे, उसके पति और बच्चे को ससुराल वाले अपना लें और उन्हें उनका हक दें. अविनाश अपने घरवालों से यह अपील की है कि उसकी गलती को लोग क्षमा कर उसे हक दें.

घरवाले भी अपनी बात पर अड़े, अब क्या होगा…

इस मामले में अविनाश कि घर वालों से जब संपर्क किया गया तब उसकी मां वीणा देवी ने बताया कि जिससे अविनाश ने शादी की है वह रिश्ते में बहन लगेगी. पुष्पा उसी के टोले की उसी की जाति की है, लेकिन पुष्पा के घर वालों से उसकी दुश्मनी है. परिवार वालों की बात नहीं मानकर उसने शादी की है तो उसे घर में जगह कैसे मिलेगी.

Tags: Jamui news

Source : hindi.news18.com