'गांधी फैमिली बदल लेती है परिवार…', राहुल गांधी पर स्मृति ईरानी का प्रहार – News18

अमन चोपड़ा
अमेठी.
उत्तर प्रदेश की हाई प्रोफाइल अमेठी सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर एक बार फिर निशाना साधा है. स्मृति ईरानी ने अमेठी की पूर्व सांसद राहुल गांधी के इस बार रायबरेली सीट से चुनाव लड़ने पर तंज कसते हुए कहा कि ‘कुछ लोग रंग बदलते हैं, लेकिन गांधी फैमिली परिवार बदल लेती है.’ बीजेपी सांसद का इशारा राहुल गांधी के उस हालिया बयान पर था, जहां उन्होंने रायबरेली के लोगों को अपना परिवार बताया था.

News18 इंडिया के सीनियर एडिटर अमन चोपड़ा से खास बातचीत में अमेठी की मौजूदा सांसद स्मृति ईरानी ने कहा, ‘हमने अमेठी में पांच साल जो काम किया, वह कांग्रेस के 50 साल में नहीं हुए. राहुल वे काम नहीं कर पाए और यहां से पल्ला झाड़ लिया.’ इसके साथ ही उन्होंने अमेठी से इस बार फिर जीत का दावा करते हुए कहा कि यहां से गांधी परिवार को जीत की गुंजाइश होती तो कोई न कोई जरूर लड़ता. हालांकि इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘सेनापति ने सरेंडर कर दिया है तो इसका मतलब ये नहीं है कि हम चुपचाप बैठ जाएं. मैं कभी किसी चीज को फार ग्रांटेड नहीं लेती. 12 दिन में 250 मीटिंग कर चुकी हूं, अब तक यहां महिलाओं की करीब 650 मीटिंग हो चुकी है. हमने यहां मेहनत की है, इसलिए आज इस मुकाम पर हैं.’

वहीं अमेठी की जगह राहुल गांधी के राय बरेली सीट से चुनाव लड़ने के फैसले पर स्मृति ईरानी ने कहा, ‘वह रायबरेली को लेकर भी श्योर नहीं हैं, जबकि पीएम मोदी का देश की नव्ज पल्स पर हमेशा हाथ रहता है. अगर कोई राजनीतिक दल किसी सीट को हारने की कगार पर छोड दे और उसे मास्टर स्ट्रोक कहे, तो ये लोग खुशफहमी फैला रहे हैं.’

राहुल गांधी पर प्रहार करते हुए स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया कि, ‘राहुल ने ममता बनर्जी को उन्हीं के राज्य में अपमानित किया. बिहार में गठबंधन सहयोगी को अपमानित किया. अखिलेश को एमपी में खून के आंसु रुलाये. ये कैसा नेता है जो अपने दम पर चुनाव नहीं लड़ सकता है. भागना ही था, तो यह सीट सहयोगियों को दे देते.’

वहीं राम मंदिर के सवाल पर बीजेपी सांसद ने कहा, ‘राम मंदिर राजनीतिक मुद्दा नहीं, आस्था का विषय है. कोई आपके भगवान का तिरस्कार करता है, उससे जनमानस में आक्रोश आएगा.’ इसके साथ ही उन्होंने राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा कि ‘आस्था नहीं थी तो नामांकन के दिन हवन क्यों किया. मंदिर में जाना भी पालिटिक्ल स्ट्रेटजी है. वह वायनाड में मंदिर क्यों नहीं गए.’

Tags: Amethi lok sabha election, Loksabha Election 2024, Loksabha Elections, Rahul gandhi, Smriti Irani

Source : hindi.news18.com