इन स्‍टेशनों पर टिकट के लिए नहीं लगानी होगी लाइन, होगी खास व्‍यवस्‍था – News18

नई दिल्‍ली. ट्रेनों से सफर करने वाले यात्रियों को सामान्‍य श्रेणी का टिकट लेने के लिए कई स्‍टेशनों पर लंबी लाइन लगानी पड़ती है. इस वजह से कई बार उकनी ट्रेन तक छूट जाती है. यात्रियों की इसी परेशानी हो ध्‍यान में रखते हुए रेलवे ने खास व्‍यवस्‍था की है, जिससे बगैर समय लगाए यात्री अपने गंतव्‍य तक का टिकट लेकर सुविधाजनक सफर कर सकता है. यह व्‍यवस्‍था पूर्वोत्‍तर रेलवे के सभी स्‍टेशनों पर शुरू कर दी गयी है.

पूर्वोत्‍तर रेलवे के मुख्‍य जनंसपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार यूटीएस यानी अनारक्षित टिकट प्रणाली ऐप का प्रयोग कर कुछ ही क्षणों में बिना कतार में खड़े हुए यात्री अपने मोबाइल फोन से अनारक्षित यात्रा टिकट, प्लेटफार्म टिकट तथा मासिक सीजन टिकट बुक/नवीनीकरण कर सकते हैं.

ट्रेन के बाथरूम में छिपकर कर रहे थे ये काम, टीटी ने खटखटया तो गेट खोला, अंदर का दृश्‍य देख हैरान रह गए

इसके अतिरिक्त 72 स्टेशनों पर 108 ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) लगाई गई हैं, जिसमें वाराणसी मंडल में 38, लखनऊ मंडल में 40 तथा इज्जतनगर मंडल में 30 ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन शामिल हैं.

पूर्वोत्तर रेलवे के सभी स्टेशनों पर यूटीएस मोबाइल ऐप की सुविधा उपलब्ध है साथ ही 207 स्टेशनों पर क्यूआर कोड की सुविधा भी उपलब्ध है, स्टेशनों पर लगे क्यूआर कोड को स्कैन कर यात्री पेपरलेस यात्रा टिकट एवं प्लेटफॉर्म टिकट बुक कर सकते हैं.

यूटीएस ऐप के माध्यम से टिकट बुक करने के लिए यात्रियों को मोबाइल पर प्ले स्टोर/ऐप स्टोर से यूटीएस ऐप इंस्टॉल करना होगा तथा रजिस्टर करना होगा. यात्री टिकट भुगतान हेतु आर-वालेट या डेबिट/क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग या यूपीआई से कर सकते हैं. आर-वालेट के प्रत्येक रिचार्ज पर 03 प्रतिशत का बोनस भी दिया जाता है.

ट्रेन में सफर के दौरान टिकट लिया, पर कर दी ये गलती, लग गया 2.5 लाख का जुर्माना, आप भी न कर बैठें

इससे यात्री पेपरलेस एवं पेपर टिकट दोनों बुक कर सकते है. पेपर टिकट निरस्त किया जा सकता हैं, परन्तु पेपरलेस टिकट निरस्त करने की अनुमति नहीं है. पेपर टिकट बुक करने पर यात्री को एटीवीएम या स्टेशन काउंटर से प्रिंट टिकट लेना होता है. पेपर टिकट में बिना प्रिंट आउट टिकट के यात्रा करना दंडनीय है. इस ऐप से बुक किये गये पेपरलेस टिकट को मोबाइल फोन पर टीटीई को दिखाया जा सकता है. इसके द्वारा मासिक सीजन टिकटों को 10 दिन पूर्व नवीनीकृत किया जा सकता है.

Tags: Gorakhnath Temple, Indian railway, Indian Railways

Source : hindi.news18.com