दून में कनपटी पर बंदूक तान डॉक्टर से बोला दबंग- हमें सेवा दें या हम सेवा देंगे – News18

हिना आज़मी/ देहरादून. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में अपराध बढ़ता जा रहा है. अपराधियों के हौसले इन दिनों बुलंद है और पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है. राजधानी में नशा तस्करी, लूट, बलात्कार जैसे क़ई अपराधों की खबरें रोज हम अखबारों में पढ़ते हैं. वहीं अब शहर के दबंग अस्पतालों में भी फिल्मी अंदाज में घुस जाते हैं और डॉक्टर की कनपटी पर बंदूक तान देते हैं. जबकि यह अस्पताल कोई छोटा अस्पताल नहीं है बल्कि उत्तराखंड की राजधानी देहरादून का दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल है जो एसएसपी बिल्डिंग और नए सरदार पटेल भवन के पास ही है.

पुलिस विभाग के नाक के नीचे ही मौजूद दून अस्पताल की इमरजेंसी बिल्डिंग में बीते रविवार को देर शाम 1 दबंग अपने एक साथी को नशे की हालत में लाया, बिना पर्चा बनाएं लोगों की भीड़ को चीरता हुआ निकला और सीधा डॉक्टर को बंदूक दिखाकर इलाज करने को कहने लगा. लोगों की जान बचाने वाले डॉक्टर की जान ही खुद ही अस्पतालों में सुरक्षित नहीं है. ऐसे में देहरादून की कानून व्यवस्था और पुलिस प्रशासन पर सवाल खड़े हो रहे हैं.

डॉक्टर पर तान दी बंदूक
दून अस्पताल के मेडिसिन डिपार्टमेंट के डॉ. आमिर खान ने लोकल 18 को जानकारी देते हुए कहा कि बीते रविवार को उनकी दून अस्पताल की इमरजेंसी में ड्यूटी थी. भीड़ काफी ज्यादा थी. अचानक एक युवक अपने दूसरे साथी को लेकर आया जो बहुत ज्यादा नशे की हालत में था. भीड़ के बीच से वह आकर बोलने लगा कि मरीज का इलाज करो. डॉ आमिर बताते हैं कि उन्होंने कहा कि आप पर्चा बनवाकर ले आए और लाइन में लग अपनी बारी का इंतजार करें. दबंग युवक ने झट से पिस्टल निकालकर डॉक्टर को डराने की कोशिश की. युवक ने कहा कि “तुम सेवा देते हो या हम तुम्हें सेवा दे”. इस घटना के बाद उस वक्त मौजूद मरीज भी घबरा गए.

मरीज को छोड़कर भागा कथित दबंग
डॉक्टर आमिर खान गार्ड को बुलाते हुए बाहर की ओर भागे तो पिस्टल दिखने वाला युवक भाग निकला और नशे की हालत में जो युवक था वह अस्पताल में ही रह गया. इस मामले को लेकर दून अस्पताल के डॉक्टरों ने हड़ताल कर दी. युवक के खिलाफ तहरीर दी गई और उसे पकड़ लिया गया लेकिन वहीं दिन रात लोगों की सेवा में लगे डॉक्टर अस्पताल के सुस्त गार्डों को सस्पेंड करने की मांग कर रहें हैं.

एसएसपी ने दिया सुरक्षा का भरोसा
दून अस्पताल मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. आशुतोष सायना ने बताया कि इस मामले में अस्पताल प्रशासन ने एसएसपी से मुलाकात करते हुए मामले पर त्वरित कार्रवाई करने की अपील की. जिसके बाद युवक को पकड़ लिया गया है. वहीं उन्होंने बताया कि अस्पताल में पुलिस चौकी बनाई गई है जो जल्द ही शुरू कर दी जाएगी.

6 महीने में नहीं शुरू हुई पुलिस चौकी
वहीं डॉक्टर्स का कहना है कि अस्पताल की पुलिस चौकी पिछले 6 माह से अब तक शुरू नहीं की गई है. हम इसमें पुलिसकर्मियों की नियुक्ति की मांग कर रहे हैं. वहीं जो अस्पताल के आसपास पुलिस विभाग के ऑफिस हैं उनके कर्मचारियों को भी सक्रिय होने की जरूरत है. ताकि आम नागरिकों के साथ इस प्रकार की घटना न हो.

Tags: Dehradun news, Local18, Uttarakhand news

Source : hindi.news18.com