लुटेरों से भिड़ी गर्भवती महिला, सुहाग की निशानी बचाने दे दी जान – News18

जबलपुर. मध्य प्रदेश के जबलपुर में कानून व्यवस्था चरमराई हुई है. अपराधी इस कदर बेखौफ हो चुके हैं कि वह रहवासी इलाकों के बीच भी लूट जैसी जघन्य वारदात को अंजाम दे रहे हैं. इन वारदातों में न सिर्फ लोगों के साथ लूट हो रही है बल्कि लुटेरे मारपीट भी करते हैं. ऐसी ही एक वारदात में लुटेरों की मारपीट में घायल हुई गर्भवती महिला की मौत हो गई. घटना माढोताल थाना क्षेत्र की है, जहां देर रात कार सवार परिवार पर 3 से 4 लुटेरों ने हमला कर दिया.

लूट की वारदात को अंजाम देने के चलते बदमाशों ने पति और पत्नी के साथ जमकर मारपीट भी की. लुटेरों के हमले के दौरान दंपति गंभीर रूप से घायल हो गए. घायलों को जब अस्पताल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया. महिला की मौत के साथ ही उसके गर्भ में पल रहे बच्चों की भी मौत हो गई.

वारदात की जानकारी मिलते ही पुलिस अधीक्षक आदित्य प्रताप सिंह भी घटनास्थल पर पहुंचे और अधिकारियों को तत्काल शहर में नाकेबंदी कर लुटेरों की तलाश करने के निर्देश दिए. बहरहाल इस वारदात का शिकार हुए शुभम चौधरी ने बताया कि वह अपनी पत्नी रेशमा और बेटे के साथ शाम को घूमने के लिए निकला था.

बोलेरो कार से वह अपनी पत्नी और बेटे को लेकर पहले पाट बाबा मंदिर गया. फिर वहां से लौटकर वह मदर टेरेसा स्थित अपनी ससुराल जा रहा था. तभी माढो ताल शमशान घाट के पास कुछ बदमाशों ने उनकी कार पर पत्थर फेंक गाड़ी को रुकवा लिया और लूट करने का प्रयास किया. इस दौरान लुटेरों ने उनके साथ मारपीट कर दी. बहरहाल इस घटना ने एक बार फिर जबलपुर पुलिस की कार्यप्रणाली और सघन चेकिंग अभियान पर सवाल खड़े कर दिए हैं.

FIRST PUBLISHED : May 5, 2024, 13:14 IST

Source : hindi.news18.com