गोरखपुर नगर निगम मलबे से करेगा शहर का विकास, CND प्लांट का होगा बड़ा रोल – News18

गोरखपुर: गोरखपुर नगर निगम अब मलबे से शहर को विकसित करने वाले प्रोडक्ट तैयार करेगा. दरअसल, शहर में अगर आप कोई निर्माण कार्य कर रहे हैं. वह बचे हुए मलबे को सड़क के किनारे फेंकते हैं या, उससे परेशान है तो उसका समाधान भी नगर निगम ने निकाल लिया है. जल्द ही नगर निगम ऐसा ऐप तैयार कर रहा है, जिसके जरिए आप कंस्ट्रक्शन के बचे हुए मलबे का फोटो अपलोड करेंगे तो नगर निगम की गाड़ी उसे उठाकर ले जाएगी. इसके लिए आपको यूजर्स चार्ज देना होगा. वहीं, नगर निगम से᠎̮ग्रिगेट्‌ करने के बाद इसे मलबे का इस्तेमाल अलग-अलग रूप में करेगा.

CND प्लांट का काम
इस पूरे काम में CND प्लांट का बड़ा रोल होगा. नगर निगम द्वारा ऐसे ऐप को तैयार किया जा रहा है, जिसके जरिए शहर में कंस्ट्रक्शन कराने वाले लोगों को काफी राहत मिलेगी. उनके कंस्ट्रक्शन के बचे हुए मलबे को नगर निगम की गाड़ी उठा कर ले जाएगी. अपर नगर आयुक्त मणि भूषण तिवारी बताते हैं कि कचरे को ले जाने के बाद शहर के महेसरा में बने CND (कंस्ट्रक्शन एंड डिमोलिश वेस्ट प्लांट) तैयार किया गया है. यहां पर इस मलबे को सबसे पहले सेग्रिगेट किया जाएगा. वह इसकी कैटेगरी अलग की जाएगी. फिर प्लांट के जरिए इसे शहर में इस्तेमाल होने वाले प्रोडक्ट तैयार किए जाएंगे.

क्या कह रहे अधिकारी
शहर में नगर निगम के इस प्लांट के जरिए अब कचरे का निस्तारण और समाधान दोनों हो जाएगा. नगर आयुक्त गौरव सिंह सोगरवाल बताते हैं कि वेस्ट प्लांट के लिए ऐप बनाने को लेकर काम किया जा रहा है. इसकी मदद से शहर का मलबा आसानी से उठ जाएगा. वह उसका निस्तारण भी संभव होगा. इसके लिए बायलॉज तैयार किया जा रहा है. वहीं कचरा निस्तारण प्लांट में यहां पर निर्माण और विध्वंस अपशिष्ट से इंटरलॉकिंग टाइल्स और नालों के स्लैब बनाए जाएंगे. वहीं, इस प्लांट को 2.60 करोड़ रुपये से तैयार किया गया है. इस प्लांट में हर दिन 400 से 500 टन कूड़े का निस्तारण होगा.

FIRST PUBLISHED : May 7, 2024, 18:02 IST

Source : hindi.news18.com