नल से पानी नहीं, बिल हर महीने आता है…बूंद-बूंद को तरसे शहरवासी पहुंचे डीएम.. – News18

हिमांशु जोशी/पिथौरागढ़. गर्मियों की शुरुआत में ही पिथौरागढ़ जिले में पानी की समस्या विकराल होते नजर आ रही है. नगर के कई ऐसे इलाके हैं, जहां पानी की सप्लाई नहीं पहुंच पा रही है. लोगों का पूरा दिन पानी का बंदोबस्त करने में ही बीत जा रहा है.

सड़कों पर उतरी मातृशक्ति
पानी की सप्लाई न हो पाने के कारण यहां की मातृशक्ति ने सड़क पर उतर कर जल संस्थान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. पिथौरागढ़ का सामाजिक संगठन जाग उठा है. पहाड़ों में जल संस्थान के खिलाफ महापंचायत हुई. इसके बाद शहर से लगे हुए गांव की विभिन्न महिलाएं पिथौरागढ़ शहर के रामलीला मैदान में इकट्ठा हुई और एक विशाल जुलूस के साथ ही डीएम ऑफिस के बाहर धरना देने पहुंच गई.

बिल बराबर आता लेकिन पानी नहीं
बड़ी संख्या में लोगों ने जल संस्थान के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया. सभी लोग यहां देव ध्वजा और ढोल नगाड़ों के साथ पहुंचे थे. प्रदर्शन में शामिल महिलाओं ने कहा कि जल संस्थान बिल तो बराबर भेज रहा है, लेकिन पानी उसमें बिल्कुल नहीं आता इस प्रदर्शन में बच्चों से लेकर बूढ़े तक सभी शामिल हुए.

जल संस्थान की हो एसआईटी जांच
जाग उठा पहाड़ के संयोजक गोपू महर ने बताया कि शहर में अरबों की पेयजल योजनाएं होने के बाद भी जल संस्थान पानी की आपूर्ति नहीं कर पा रहा है, उन्होंने कहा, हर साल जल संस्थान करोड़ों का बजट इन पेयजल योजनाओं में खपाता है, जिसका असर धरातल पर नहीं दिखता उन्होंने जल संस्थान के भ्रष्टाचारियों की एसआईटी जांच की मांग की है.

क्या बोले अधिकारी
पिथौरागढ़ नगर में 13 एमएलडी में पानी की जरूरत है. इसके सापेक्ष 8.5 से 9.0 एमएलडी पानी ही मिल पा रहा है. इस कमी के कारण ही सभी वार्डों में एक दिन छोड़कर पानी दिया जा रहा है. लोगों को दिक्क्त न हो इसके लिए पांच टैंकर लगाए गए हैं. ग्रामीण क्षेत्रों में 50 प्रतिशत पेयजल स्रोत सूख गए हैं. नगर के वार्डों में लगाए गए स्टैंड पोस्टों में सिर्फ एक टोटी रहेगी. स्टैंड पोस्ट से लिए गए अवैध कनेक्शन काटे जाएंगे.

Tags: Drinking water crisis, Local18, Pithoragarh news

Source : hindi.news18.com