लापरवाही बच्चों पर न पड़ जाए भारी, बरतें सावधानी, डॉक्टर ने बताया ये तरीका – News18

कृष्णा कुमार गौड़/ जोधपुर: प्रदेशभर में गर्मी का आलम किसी से छिपा हुआ नही है. इस बार जिस तरह से रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड रही है. जिससे लोगो का हाल बेहाल है. वहीं सूर्यनगरी जोधपुर में भी पारा 43 के पार कर चुका है. चिलचिलाती धूप के कारण स्कूल जाने वाले बच्चों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. अधिकांश स्कूलों के खुलने का समय तो सुबह 7- 7:30 बजे है, वहीं छुट्टी तकरीबन दोपहर 1:30 तक हो रही है. इसके बाद में भी ऑटो-बस में स्कूल पहुंचते-पहुंचते बच्चों को आधे घंटे से 2 घंटे तक लगते हैं. ऐसे में ये असहनीय गर्मी बच्चों को बेहाल कर रही है. चिकित्सकों की माने तो बच्चो में लू लगने का खतरा काफी हद तक बढ जाता है.

ग्रीष्मकालीन अवकाश में भी अभी 15-20 दिन पड़े हैं. डॉक्टर्स का भी मानना है कि ऐसी गर्मी में बच्चों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी हो सकती हैं. शिक्षा विभाग व जिला प्रशासन बच्चों की स्कूलों की छुट्टी का समय अगर थोड़ा जल्दी कर दे तो लाखों बच्चों को राहत मिल सकती है. हालांकि शिक्षा विभाग व जिला प्रशासन बड़े स्तर पर आदेश का इंतजार कर रहे हैं. हालांकि अभी तक किसी प्रकार का आदेश तो नही आया है मगर डॉक्टर्स बच्चो के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जरूर सलाह देते नजर आ रहे है.

आसमान से बरस रहे अंगारे
मौसम विभाग के अनुसार आज यानी मंगलवार को भी तापमान के 43 से 44 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है. विशेषज्ञों ने दोपहर के समय जरुरत होने पर ही घर से निकलने की सलाह दी है. अधिक देर तक धूप में रहने से हीट स्ट्रोक का खतरा बना हुआ है. ऐसे में वरिष्ठ फिजिशियन डॉ आलोक गुप्ता ने माता पिता को बच्चो को गर्मी के लिहाज से किए जाने वाले बचाव और उपचार के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि बच्चों को बेवजह बाहर न निकाले. वहीं प्रशासन को भी स्कूलों के समय में बदलाव करने के बारे में सोचना चाहिए.

मारवाड़ में कहां कितना तापमान
शहर ———— अधिकतम तापमान
जोधपुर ———- 42.2
बाड़मेर ———-42.9
जैसलमेर ———- 42.8
फलोदी ———- 42.8
जालोर ———- 42.8

FIRST PUBLISHED : May 7, 2024, 15:17 IST

Source : hindi.news18.com