दुनिया में बज रहा UPI का डंका, घाना में भी कर सकेंगे यूपीआई का इस्तेमाल – News18

नई दिल्ली. फिनटेक सेक्टर में भारत की धमक अब ग्लोबल होने लगी है. पूरी तरह से स्वदेशी टेक्नोलॉजी यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) के जरिए कई देशों में पेमेंट होने लगे हैं. इस बीच भारत और घाना दोनों देशों के नागरिकों के लिए इंस्टेंट फंड ट्रांसफर की सुविधा के लिए 6 माह के भीतर घाना इंटरबैंक पेमेंट एंड सेटलमेंट सिस्टम (GhIPSS) के साथ यूपीआई को चालू करने पर सहमत हुए हैं. यह जानकारी कॉमर्स मिनिस्ट्री ने 6 मई को दी.

घाना की राजधानी अकरा में 2-3 मई को भारत और घाना के अधिकारियों के बीच हुई ज्वाइंट ट्रेड कमिटि (JTC) की बैठक में इस मामले में सहमति बनी. कॉमर्स मिनिस्ट्री ने बताया कि दोनों देशों ने ट्रेड में लोकल करेंसी सेटलमेंट सिस्टम (LCCS), डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन सॉल्यूशन और अफ्रीकी महाद्वीपीय फ्री ट्रेड एग्रीमेंस पर एक एमओयू की संभावनाओं पर भी चर्चा की.

ये भी पढ़ें- बैंक खाते में पैसे नहीं, फिर भी Amazon Pay से कर पाएंगे यूपीआई पेमेंट, कंपनी के डॉयरेक्टर ने बताया प्लान

कई देशों में मौजूद है यूपीआई की सुविधा
गौरतलब है कि फ्रांस, संयुक्त अरब अमीरात, श्रीलंका और मॉरीशस में पहले से ही यूपीआई की सुविधा उपलब्ध है. दोनों देशों के बीच बाइलैटरल ट्रेड पेमेंट को लोकल करेंसी में सेटलमेंट से अमेरिकी डॉलर पर निर्भरता कम होगी. इससे रुपये को भी मजबूती मिलेगी.

ये भी पढ़ें- बिना इंटरनेट के भी कर सकते हैं UPI पेमेंट, बटन वाले फोन से ऐसे करें मनी ट्रांसफर

घाना में तीसरा सबसे बड़ा निवेशक है भारत
गौरतलब है कि घाना अफ्रीकी क्षेत्र में भारत का एक महत्वपूर्ण ट्रेडिंग पार्टनर है. 2022-23 में भारत और घाना के बीच 2.87 बिलियन अमेरिकी डॉलर का व्यापार हुआ. भारत घाना में तीसरा सबसे बड़ा निवेशक है.

Tags: Upi, UPI Payment

Source : hindi.news18.com