बेहद सस्ते में मिल रहा है फलदार पौधे, किसान ऐसे कर सकते हैं खरीदारी – News18

वैशाली: बिहार में अब भी बड़े पैमाने पर पारंपरिक फसलों की खेती होती है. हालांकि पिछले कुछ वर्षो से इसमें बदलाव भी आना शुरू हो गया. किसान अब नगदी फसलों की भी खेती करने लगे हैं. नगदी फसलों में सब्जी के बाद सबसे अधिक फलों की खेती हो रही है. इसमें आम, लीची, पपीता, केला अमरूद सहित अन्य फल शामिल है. उद्यान विभाग भी फलों की खेती को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं संचालित कर रहा है. इन योजनाओं का मदद लेकर किसान खेती कर सकते हैं. इन्हीं योजनाओं में शामिल है बागवानी मिशन, जिसके तहत आम, लीची और पपीता जैसे फलों की अनुदानित दर पर पौधे लेकर अपने खेतों में लगा सकते हैं.

योजना का लाभ लेने के लिए इन कागजातों की पड़ेगी जरूरत

सहायक निदेशक उद्यान शशांक कुमार ने बताया कि उद्यान विभाग ने किसानों के लिए पोर्टल भी कर दिया है. इस पोर्टल पर किसान 30 जून तक आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करते वक्त  जमीन का रसीद, किसान रजिस्ट्रेशन नंबर, आधार कार्ड, एलपीसी सहित अन्य कागजात जरूरी है. एक किसान कम से कम 10 कट्ठे में बागवानी लगाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं. किसानों को एक आम का पौधा 70 से 100 रुपये में उपलब्ध कराया जाएगा. जबकि लीची के पौधे 50 रुपये में एवं पपीता का पौधा 20 रुपये में उपलब्ध कराया जाएगा. खास बात यह है कि सभी पौधे पर किसान को 70 प्रतिशत अनुदान मिलेगा.

30 जून के बाद पौधे का किया जाएगा वितरण

सहायक निदेशक उद्यान शशांक कुमार ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2024 2025 के लिए बागवानी लगाने के इच्छुक किसानों के लिए 30 जून तक पोर्टल खुला रहेगा. इस अवधि तक किसान ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. वहीं आवेदन की प्रक्रिया समाप्त हो जाने के बाद किसानों को 30 जून के बाद आम, लीची और पपीता का पौधा उपलब्ध कराया जाएगा. किसानों को पौधे पर दी जाने वाले अनुदान की राशि सीधे उनके खाते में भेजा जाएगा.

Tags: Agriculture, Bihar News, Local18, Vaishali news

Source : hindi.news18.com