इन पांच सरकारी कंपनियों ने FY 2024 में जमकर कूटा मुनाफा – News18

हाइलाइट्स

SBI वित्‍त वर्ष 2024 में सबसे ज्‍यादा मुनाफा कमाने वाली सरकारी कंपनी रही. ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन मुनाफा कमाने के मामले में दूसरे नंबर पर रहा. इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन का पिछले वित्‍त वर्ष में मुनाफा 41,615 करोड़ रुपये रहा.

नई दिल्‍ली. सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (PSUs) के लिए बीता वित्‍त वर्ष यानी FY2024 बहुत अच्‍छा रहा. बीएसई पीएसयू इंडेक्‍स में सूचीबद्ध 56 सरकारी कंपनियां सूचीबद्ध हैं. इन सभी कंपनियों ने कुल मिलाकर पिछले वित्‍त वर्ष में पांच लाख करोड़ रुपये अधिक प्रॉफिट कमाया. इन 56 पीएसयूज का टैक्‍स बाद लाभ सालाना आधार पर 48 फीसदी बढ़कर 5.07 लाख करोड़ रहा. जबकि वित्‍त वर्ष 2023 में यह 3.43 लाख करोड़ रुपये रहा था.

बीएसई पीएसयू इंडेक्‍स में शामिल सरकारी कंपनियों ने कुल 53 लाख करोड़ रुपये का राजस्‍व अर्जित किया और सरकार को वित्‍त वर्ष 2024 में 1.68 लाख करोड़ रुपये टैक्‍स के रूप में चुकाए. इन 56 पीएसयू में से 14 कंपनियां ऐसी थी जिनका प्रॉफिट 10 हजार करोड़ रुपये से ज्‍यादा था. भारतीय स्‍टेट बैंक, ऑयल एंड नैचुरल गैस कॉर्पोरेशन, इंडियन ऑयल और कोल इंडिया को जमकर मुनाफा पिछले वित्‍त वर्ष में हुआ.

ये भी पढ़ें- ₹100, ₹200 या ₹500, कौन सा करेंसी नोट है भारतीयों का दुलारा, RBI की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

एसबीआई ने कमाया सबसे ज्‍यादा मुनाफा
बिजनेस टुडे की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत का सबसे बड़ा बैंक, भारतीय स्‍टेट बैंक वित्‍त वर्ष 2024 में सबसे ज्‍यादा मुनाफा कमाने वाला पीएसयू रहा. वित्‍त वर्ष 2024 में एसबीआई का PAT 20 फीसदी बढ़कर वित्‍त वर्ष 2023 के 56,558 करोड़ के मुकाबले 68,138 करोड़ रुपये हो गया. सरकार को बैंक ने 23,102 करोड़ रुपये टैक्‍स के रूप में दिए. एसबीआई का बाजार पूंजीकरण 7.37 लाख करोड़ रुपये है. एसबीआई के शेयर की कीमत पिछले एक साल में 42 फीसदी बढ़ी  है.

ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन
वित्त वर्ष 2024 में ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉर्पोरेशन (ONGC) का पीएटी 54,705 करोड़ रुपये रहा. वित्त वर्ष 2023 में 34,012 करोड़ रुपये के मुनाफे के मुकाबले इसने 61 फीसदी की वार्षिक लाभ वृद्धि दर्ज की. ONGC ने 19,759 करोड़ रुपये कर भुगतान सरकार को किया. ओएनजीसी का कुल राजस्व 6.43 लाख करोड़ रुपये रहा. कंपनी का बाजार पूंजीकरण 3.35 लाख करोड़ रुपये है और पिछले 12 महीनों में शेयर की कीमत 73 फीसदी बढ़ी है.

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन
41,615 करोड़ रुपये के मुनाफे के साथ ऑयल सेक्टर की कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) आईओसी PAT के मामले में तीसरे स्थान पर रही. पिछले वित्त वर्ष में कंपनी का पीएटी सालाना आधार पर 284 फीसदी बढ़ा. इसने 14,127 करोड़ रुपये सरकार को टैक्स के रूप में दिए. आईओसी के शेयर में एक साल में 80 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. इसका मौजूदा मार्केट कैप 2.29 लाख करोड़ रुपये है.

कोल इंडिया
वित्त वर्ष 2024 में कोल इंडिया (Coal India) का मुनाफा (PAT) 16 फीसदी बढ़कर 36,942 करोड़ रुपये हो गया, जो कि इससे पिछले साल 31,731 करोड़ रुपये था. कोल इंडिया ने सरकार को 11,443 करोड़ रुपये कर के रूप में दिए. कोल इंडिया का मौजूदा बाजार पूंजीकरण 2.97 लाख करोड़ रुपये है और इसका शेयर 12 महीनों में 101 फीसदी बढ़ा है.

भारतीय जीवन बीमा निगम
देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा कंपनी, भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के प्रॉफिट आफ्टर टैक्‍स (PAT) में सालाना आधार पर 16 फीसदी की वृद्धि हुई. वित्त वर्ष 24 एलआईसी का पीएटी 36,844 करोड़ रुपये रहा जो कि वित्त वर्ष 23 में 31,812 करोड़ रुपये था. एलआई ने कुल राजस्व 4.77 लाख करोड़ रुपये राजस्‍व अर्जितकिया. कंपनी ने कर के रूप में 6,098 करोड़ रुपये का भुगतान सरकार को किया. एलआईसी का मौजूदा बाजार पूंजीकरण 6.28 लाख करोड़ रुपये है और एक साल में एलआईसी शेयर में 67 फीसदी की तेजी आई है.

Tags: Business news, Coal india, Sbi

Source : hindi.news18.com