दक्कन के पठार पर बीजेपी का कब्जा, केरल तक पहुंची धमक – News18

Lok sabha Election result 2024 Date: भारत के दक्षिण में स्थित और दक्कन के पठार पर बसा ऐतिहासिक धरोहर से समृद्ध व खनिज संपदा से परिपूर्ण ‘तेलंगाना’ राज्य अपना स्थापना दिवस मना रहा है. बहुत सालों की कोशिश और आंदोलन के बाद आज से ठीक 10 साल पहले 2 जून 2014 को तेलंगाना, आंध्र प्रदेश से अलग होकर भारत का 28वां राज्य बना था. 1 जून, शनिवार को लोकसभा चुनाव 2024 के अंतिम चरण के मतदान के बाद आए एग्जिट पोल में तेलंगाना में बीजेपी गठबंधन को 17 सीट मिलने की संभवना जताई गई है. पिछले लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी को 4 सीटों पर जीत मिली थी. अगर एग्जिट पोल के नतीजे सच साबित होते हैं तो बीजेपी के लिए यह बड़ी उपलब्धि होगी.

टुडेज चाणक्य एग्जिट पोल के अनुसार, लोकसभा की 17 सीटों वाले तेलंगाना बीजेपी गठबंधन को 12 सीटों पर जीत मिलने का अनुमान जाहिर किया गया है. कांग्रेस को 4-5 और अन्य के खाते में एक सीट आ सकती है.

टाइम्स नाउ ईटीजी के एग्जिट पोल में बीजेपी को 17 में से 9 सीट मिलने की बात कही गई है. 6-7 सीटों पर कांग्रेस जीत सकती है. एआईएमआईएम के खाते में एक सीट जा सकती है. बीआरएस का खाता नहीं खुलने की बात कही जा रही है. वहीं इंडिया टीवी-सीएनएक्स ने बीजेपी के पक्ष में 8-10 सीटें जाने का दावा किया है.

कांग्रेस के दावे फेल
तेलंगाना में कांग्रेस को बड़ी उम्मीद थी. विधानसभा में बहुमत हासिल करने के बाद कांग्रेस लोकसभा चुनाव में जीत का बड़ा दावा कर रही थी. तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी ने 17 में 15 सीटों पर कांग्रेस की जीत की दावा किया था. लेकिन एग्जिट पोल कुछ और ही भाषा कह रहे हैं.

तेलंगाना की सबसे हॉट सीट हैदराबाद पर फिर से असदुद्दीन ओवैसी की वापसी की बात कही जा रही है. यहां ओवैसी के सामने बीजेपी ने माधवी लता को खड़ा किया था. हालांकि,माधवी लता ने ओवैसी से जोरदार लोहा लिया, लेकिन एग्जिट पोल में उनकी हार बताई जा रही है.

2019 का लोकसभा चुनाव और तेलंगाना
तेलंगाना में 2019 के लोकसभा चुनाव में भारत राष्ट्र समिति- (Bharat Rashtra Samithi- BRS) ने 17 में से 9 सीटों पर जीत हासिल की थी. भारतीय जनता पार्टी के खाते में 4 सीट आई थीं. कांग्रेस ने 3 सीटों पर कब्जा किया था और ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम (AIMIM) को बस एक सीट मिली थी.

केरल में खुलेगा बीजेपी का खाता
केरल में लोकसभा की 20 सीट हैं. केरल में बीजेपी ने आजतक कोई सीट नहीं जीती है. एग्जिट पोल में इस बार केरल में बीजेपी का खाता खुलने की बात कही जा रही है. चाणक्य एग्जिट पोल में केरल में कांग्रेस गठबंधन-यूडीएफ (यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट) को 15 सीट मिलने की बात कही जा रही है. बीजेपी को यहां 4 सीट मिल सकती हैं. लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट- एलडीएफ के खाते में एक सीट आने की संभावना जताई जा रही है. अगर एग्जिट पोल सही साबित होते हैं कि केरल में बीजेपी इतिहास रचने जार रही है.

केरल में 8 में से 5 एग्जिट पोल में बीजेपी नीत एनडीए को 1 से 3 सीट मिलने का अनुमान जताया गया है. ये सभी सीटें BJP के खाते में जा सकती हैं. अगर एग्जिट पोल के नतीजे सही साबित हुए, तो BJP इस बार केरल में इतिहास बनाएगी.

केरल में इस बार कांग्रेस की अगुवाई वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट- यूडीएफ, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की अगुवाई वाले लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट- एलडीएफ और बीजेपी के नेतृत्व वाले नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस-एनडीए के बीच त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिला है.

एग्जिट पोल संदिग्ध
इस बीच केरल में सत्तारूढ़ वाम दल ने एग्जिट पोल संदिग्ध और राजनीति से प्रेरित बताया है. एलडीएफ के संयोजक और माकपा के वरिष्ठ नेता ई. पी. जयराजन ने कहा कि एग्जिट पोल के अनुमान कुछ वैज्ञानिक निष्कर्ष या प्रयोगों के जरिए नहीं निकाले गए, यह जन भावनाओं पर आधारित नहीं हैं और यह चुनावों का उचित विश्लेषण करने के बाद का अवलोकन नहीं है.

एग्जिट पोल को खारिज करते हुए जयराजन ने सवाल किया कि किस आधार पर एग्जिट पोल यह अनुमान दे रहे हैं कि भाजपा इस दक्षिणी राज्य में अपना खाता खोलेगी.

केरल में 2019 का लोकसभा चुनाव
केरल में पिछली बार कांग्रेस 16 सीटों पर चुनाव लड़ी थी और 15 सीटों पर जीत हासिल की थी. जबकि कांग्रेस नीत गठबंधन यूडीएफ ने 19 सीटों पर जीत हासिल की थी. इसमें इंडियन मुस्लिम लीग को 2 सीट और अन्य सहयोगियों को 2 सीट मिली थीं. सीपीआई-एम के कब्जे में एक सीट आई थी. 2019 के चुनाव में बीजेपी को 15.6 फीसदी वोट मिले थे, लेकिन सीट नहीं मिली.

Tags: BJP, Kerala News, Loksabha Election 2024, Loksabha Elections, Telangana News

Source : hindi.news18.com