जल की कमी को दूर करेगी कमला जीवछ लिंक परियोजना, किसानों को मिलेगी मदद – News18

आर्या झा/ मधुबनी. जिले में बढ़ती जल समस्याओं को देखते हुए जल संसाधन विभाग जल्द ही एक परियोजना लेकर आने वाली है, जिसके जरिए किसानों और आम परिवारों को काफी मदद मिलेगी.
आपको बता दें कि मधुबनी जिले में जल संकट की वजह से कई सारे चापाकल, हैंडपंप सुख गए हैं जिससे आम लोगों को पेयजल की समस्याएं भी हो रही है.

जल संसाधन विभाग के द्वारा जारी किए जा रहे इस परियोजना को कमला जीवछ लिंक योजना का नाम दिया गया है. इस योजना के अंतर्गत क्षेत्र के कई नहरों में अलग-अलग केनाल बनाए जाएंगे, जिसके जरिए वाटर सप्लाई की जाएगी. सभी केनाल (नहर को जोड़ने के काम में आने वाली चीज) के अलग-अलग चैनलों में एएफएस यानी एंटी फ्लडिंग स्विस लगाए जाएंगे जिससे बाढ़ जैसी स्थिति से बचा जा सके.

कैसे काम करेगा एएफएस
एएफएस यानी एंटी फ्लडिंग स्विस केनाल के उपयोग में लाने वाली वस्तु होती है. आम भाषा में समझाएं तो इसे अलग-अलग चैनलों (मुहाने) पर फिट किया जाता है, जिसके जरिए पानी को रोका और छोड़ा जा सकता है. जिस क्षेत्र को पानी की आवश्यकता महसूस होगी वहां का एंटी फ्लडिंग स्विस एक्टिव कर दिया जाएगा. इससे एक इलाके में अधिक पानी नहीं जाएगा और ना ही बाद का खतरा मंडराएगा.

क्या कहते हैं अधिकारी
जिले में भीषण जल संकट को देखते हुए अधिकारी बेहतर प्लानिंग के साथ इस पर काम करना चाहते हैं. जल संसाधन विभाग मधुबनी के मुख्य कार्यपालक अभियंता ब्रजेश निराला बताते हैं कि वाटर रिचार्ज के लिए पानी की जरूरत होती है. पानी इकट्ठा या तो बारिश से होता है या फिर हम अपने नजदीकी इलाके से लेते हैं. उदाहरण के तौर पर मधुबनी से सटा नेपाल का इलाका है तो वहां से क्यूसेक में पानी लिया जा सकता है फिर उसका बंटवारा जरूरत के इलाकों में किया जा सकता है. इसी पद्धति पर जल संसाधन विभाग काम कर रहा है और बहुत जल्द ही यह योजना लोगों के पास आने की उम्मीद की जा रही है.

मंत्रालय को भेजा जा चुका है रोडमैप
रोडमैप मधुबनी समेत जल संसाधन विभाग के 3 सबडिवीजन के द्वारा तैयार किया गया है. सभी विषयवस्तु को सिलसिलेवार तरीके से फाइल बनाकर जिले द्वारा राज्य सरकार के विभाग को भेजा जा चुका है. वहां प्रस्ताव पास होते ही इसे लागू करने के प्रयास शुरू कर दिए जाएंगे. मुख्य कार्यपालक अभियंता के मुताबिक कैनाल बनाने का काम 90 प्रतिशत पूरा हो चुका है. इसके लिए अलग-अलग 8 चैनल्स बनाए गए हैं. आगे का काम जारी है.

Tags: Bihar News, Clean water, Local18, Madhubani news, Water Crisis, Water Resources

Source : hindi.news18.com