Ajmer : पहले फंसाते थे प्रेम जाल में, फिर शुरू होता था 'गंदा खेल', 3 गिरफ्तार – News18

अशोक सिंह भाटी. अजमेर. अजमेर में एक बार फिर 1992 ब्लैकमेल कांड की तरह नाबालिक बच्चियों को सोशल मीडिया के माध्यम से प्रेम जाल में फंसाकर अश्लील फोटो वायरल करने के बाद ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है. इस मामले में पुलिस ने दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है. एक नाबालिग को आरोपी को भी पकड़ा है. पुलिस ने एसआईटी का गठन कर मामले की जांच आगे बढ़ा दी है, ताकि गैंग में शामिल सभी लोगों तक पहुंचकर गिरोह का पर्दाफाश किया जा सके.

31 मई को अजमेर के किशनगंज थाने में क्षेत्र के रहने वाले एक परिवार ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उनकी बेटी को इरफान नाम का व्यक्ति अश्लील फोटो और वीडियो के माध्यम से ब्लैकमेल कर लाखों रुपये एंठ रहा है. ऐसा नहीं करने पर फोटो वीडियो को वायरल करने की धमकी भी दी है. पीड़ित परिवार के अनुसार एक गैंग सक्रिय है जो नाबालिक स्कूली और कोचिंग की छात्रों की फोटो वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर उनसे पैसे की डिमांड कर रहा है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए टीम का गठन किया और आरोपियों की धर पकड़ शुरू की गई.

फोटोग्राफर अरबाज भी गिरफ्तार कर
रातीडांग निवासी इरफान को गिरफ्तार करने के साथ ही फोटोग्राफर अरबाज को भी गिरफ्तार कर लिया गया. साथ ही इस मामले में एक नाबालिक को भी पकड़ा गया. मामला सामने आने के बाद कई संगठनों ने कलेक्ट्रेट पर विरोध-प्रदर्शन करते हुए अजमेर एसपी को ज्ञापन सौंपा. इस पूरे प्रकरण में सीट का गठनकर उच्च स्तरीय जांच की मांग रखी गई. वहीं संगठनों ने ऐसे बदमाशों पर बुलडोजर चलाने और नौसर घाटी के पास बने अवैध रेस्टोरेंट-कैफे पर कार्रवाई करने की मांग रखी.

किराएदार के कमरे में थी बहू, रात में सास की टूटी नींद, फिर जो हुआ, नहीं होगा यकीन

अश्लील फोटो वीडियो अपलोड कर करते थे ब्लैकमेल
अजमेर एसपी देवेंद्र बिश्नोई ने पूरे प्रकरण की जानकारी देते हुए बताया कि कृष्णगंज थाना क्षेत्र के रहने वाली एक लड़की की ओर से अश्लील फोटो वीडियो इंस्टाग्राम पर अपलोड कर ब्लैकमेल करने की शिकायत दी गई. पुलिस ने इस मामले में तुरंत कार्रवाई की और तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इसमें से एक फोटोग्राफर है जो सेवन वंडर पर फोटोग्राफी करता है. आरोपियों के मोबाइल और अन्य सामग्री जब्त जप्त कर ली गई है, जिनकी जांच की जा रही है. इस मामले में चार अन्य लोगों को भी हिरासत में ले लिया गया है. उनकी भूमिका को लेकर भी जानकारी जुटाई जा रही है.

फिलहाल एक लड़की के परिजनों ने की शिकायत 
एसपी ने कहा कि फिलहाल एक लड़की के परिजनों की ओर से शिकायत दी गई है, इसमें अन्य लड़की की ओर से कोई शिकायत फिलहाल नहीं मिली है. काउंसलिंग कर इस मामले में जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है, जिससे कि पूरे नेटवर्क को खंगाला जा सके. इसमें कौन-कौन शामिल हैं और यह किस तरह से नाबालिग बच्चियों को पहले बहला-फुसलकर इस तरह की हरकत कर रहे हैं, इसे लेकर जांच की जा रही है.

शादी के 5 साल बाद सास को हुआ शक, बहू की करवाई जांच, पता चली ऐसी सच्चाई, पति हो गया बेहोश!

एसआईटी का गठन भी
अजमेर रेंज आईजी डॉक्टर लता मनोज और एसपी देवेंद्र बिश्नोई के निर्देशन में एसआईटी का गठन भी किया गया है. एसआईटी में दो एडिशनल एसपी, तीन पुलिस उपाधीक्षक किशनगंज थाना प्रभारी के साथ ही अलग-अलग थाना प्रभारी साइबर टीम के 16 सदस्य शामिल हैं जो इस पूरे प्रकरण को लेकर जांच पड़ताल में जुटे हैं.

अजमेर में 1992 के दौरान एक ब्लैकमेल कांड सामने आया था जिसमें समुदाय विशेष के लोगों द्वारा सैकड़ों बच्चों को प्रेमजाल में फंसाकर उनकी अश्लील फोटो वीडियो के माध्यम से ब्लैकमेल किया था. अजमेर शहर का नाम देशभर में बदनाम हुआ था. ऐसा मामला दोबारा ना हो, इसे लेकर पुलिस अपनी ओर से कार्रवाई कर रही है.

Tags: Ajmer news, Rajasthan news, Shocking news

Source : hindi.news18.com