Local Hero: कभी IAS बनने का था सपना, आज स्ट्रीट डॉग्स की कहलाती हैं मसीहा – News18

शिखा श्रेया/रांची. झारखंड की राजधानी रांची के जेवीएम शामली से प्लस टू किया. फिर लॉ की डिग्री हासिल की. हमेशा टॉपर की लिस्ट में पहला नाम रहता था रांची की आर्ची का. वह बचपन से ही भारतीय प्रशासनिक सेवा यानी आईएएस बनने का सपना देखा करती थी. लेकिन एक हादसे ने आर्ची की जिंदगी की दिशा ही बदल दी. आज लोग उन्हें स्ट्रीट डॉग्स लवर के रूप में जानते पहचानते हैं. स्ट्रीट डॉग्स के लिए कुछ करने की सोच अब आर्ची के जीवन का लक्ष्य है.

आर्ची ने लोकल18 को बताया आईएएस की तैयारी करने के दौरान ही एक बार उन्होंने देखा कि एक छोटे से कुत्ते पर किसी महिला ने खौलता हुआ गर्म पानी डाल दिया. इसके कारण उस कुत्ते की तड़प-तड़प कर मौत हो गई. इस घटना ने आर्ची को दुखी कर दिया. आर्ची ने बताया कि वह इस घटना को लेकर एफआईआर लिखवाने पुलिस स्टेशन भी गईं, लेकिन वहां उनकी गुहार नहीं सुनी गई. उन्होंने तभी सोच लिया कि अब से जो कुछ बन पड़ेगा, वह इन स्ट्रीट डॉग्स के लिए करेंगी.

पॉकेट मनी बचाकर खोला सेंटर
आर्ची ने बताया कि आवारा कुत्तों के साथ इंसानों के बुरे बर्ताव ने उन्हें अंदर तक झकझोर दिया था. इसलिए उन्होंने खुद के पैसे से ही इन डॉग्स के लिए कुछ करने की ठान ली. लोकल18 के साथ बातचीत के दौरान आर्ची ने बताया कि उन्होंने अपने पॉकेट मनी से बीमार स्ट्रीट डॉग्स का इलाज कराना शुरू किया. किसी डॉग को इंजरी होती थी, तो उनका इलाज कराती थी. इसके बाद आर्ची ने अपने पैसे से ही छोटा सा रिहैबिलिटेशन सेंटर भी खोला, जहां वैसे डॉग्स को ले आती थीं, जो बीमार या चोटिल होते थे. जिन्हें चोट लगी रहती थी या हाथ-पैर टूटे होते थे. डॉक्टर से दिखाने के बाद सेंटर में रखकर इन डॉग्स का ख्याल रखती थी. जब वह पूरी तरह ठीक हो जाते थे, तब उनको आजाद कर देती थी.

4 सालों में 500 अधिक स्ट्रीट डॉग्स का रेस्क्यू
आर्ची बताती हैं कि पिछले चार सालों में उन्होंने 500 से अधिक स्ट्रीट डॉग का रेस्क्यू किया है. हर हफ्ते तीन-चार हो ही जाते हैं. वह PETA इंडिया के साथ मिलकर काम कर रही हैं. अपने काम का वीडियो वह सोशल मीडिया पर शेयर करती हैं, जिससे दूसरे लोग भी प्रेरित होते हैं. सोशल मीडिया से ही आर्ची को मदद भी मिलती है. उन्होंने बताया कि कभी कोई 500 रुपए दे जाता है, तो कभी डॉग्स के लिए खाने का सामान. इससे मुझे काफी हेल्प मिलती है. आर्ची के इस काम से आज कई लोग जुड़ चुके हैं, जिससे आवारा कुत्तों की देखभाल हो पाती है. अगर आप भी डॉग्स लवर हैं और आर्ची को सपोर्ट करना चाहते हैं तो इस नंबर 9748445008 पर संपर्क कर सकते हैं.

Tags: Dog Lover, Local18, Ranchi news, Stray animals

Source : hindi.news18.com