कोविड में कंगाल, फिर किस्मत का साथ, मिला खजाना कि दूर हो गई पुश्तों की गरीबी! – News18

कोविड के दिनों में वह बेरोजगार हो गया. उसकी आर्थिक स्थिति बहुत नाजुक हो गई. फिर उसके सामने सर्वाइवल का संकट पैदा हो गया. उसके पास खोने के लिए कुछ नहीं बचा था, लेकिन उसको किस्मत पर बहुत भरोसा था. वह और उसकी पत्नी फिर किस्मत ही आजमाने लगे. वह नियमित रूप से ऐसा काम करते थे, फिर अचानक एक पल में उनकी किस्मत ने दस्तक दी. और उनको इतना धन मिला कि उनकी सात पुश्तों की गरीबी दूर हो गई. यह कहानी है अमेरिका के न्यूयॉर्क के एक कपल की. दो जून की रोटी के जुगाड़ में लगे रहने वाला कपल अचानक से करोड़पति बन गया. वो भी किसी लॉटरी से नहीं बल्कि पूरी तरह किस्मत के भरोसे.

द गार्डियन अखबार की एक रिपोर्ट के मुताबिक यह दंपति न्यूयॉर्क के एक झील में ‘मैग्नेट फिशिंग’ करता है. मैग्नेट फिशिंग के जरिए पानी से मेटल निकाले जाते हैं. इसमें फिशिंग वाले धागे के एक सिरे पर पावरफुल मैग्नेट लगाया गया होता है. इससे पानी में मौजूद मेटल उसमें चिपक जाते हैं. फिर फिशिंग करने वाला शख्स उसे इकट्ठा कर बेचता है और पैसे कमाता है.

फिशिंग के दौरान खुली किस्मत
फिशिंग पर गए इस कपल का नाम जेम्स केन और बार्बी एगोस्टिनी है. वे अन्य दिनों की तरह एक बार फिर 31 मई को क्वीन्स के फल्शिंग मीडोज कोरोना पार्क में फिशिंग करने गए थे. वे फिशिंग कर रहे तो उनके अहसास हुआ कि मेटल से कोई भारी चीज चिपक गई है. वह चीज मेटल का एक बॉक्स था. वे किसी तरह उसे पानी से बाहर निकालने में सफल हुए. उस वक्त उनको अहसास नहीं था कि इसी मेटल बॉक्स में उनकी किस्मत का खजाना छिपा हुआ है. फिर उन्होंने सावधानी से उस बॉक्स को खोला. फिर क्या उनकी किस्मत का खजाना खुल चुका था. उस बॉक्स में 100 डॉलर के एक लाख डॉलर (करीब 83 लाख रुपये) की रकम थी. हालांकि, ये नोट थोड़े खराब हो गए थे.

इसके बाद इस कपल ने इसकी सूचना न्यूयॉर्क पुलिस को दी. लेकिन, पुलिस ने भी उनकी किस्मत पर भरोसा कर लिया और कहा कि ये पैसे आप ही रखिए. पुलिस का कहना था कि इस कपल ने किसी गलत तरीके से ये पैसे नहीं हासिल किए हैं. इसके साथ कोई क्राइम नहीं जुड़ा है. ऐसे में ये पैसे कपल के हैं. पुलिस ने यह भी कहा कि इस पैसे के असली मालिक कौन हैं उनकी पहचान करने का कोई तरीका नहीं है. ऐसे में इसे पाने वाला कपल ही इसका हकदार है.

FIRST PUBLISHED : June 3, 2024, 13:12 IST

Source : hindi.news18.com