LIVE: श्रीगंगानगर में किसान आंदोलन दिखा सकता है असर, मुकाबला कड़ा है – News18

श्रीगंगानगर. भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर स्थित गंगानगर राजस्थान का वह क्षेत्र है जहां का अधिकांश इलाका नहरी है. बीकानेर रियासत के तत्कालीन महाराजा गंगा सिंह इसी इलाके से यहां गंग कैनाल लाए थे. महाराजा गंगा सिंह के इस ऐतिहासिक कदम के कारण उनके नाम से गंग बाबा का मेला भी भरता है. अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित गंगानगर सीट पर बीते 10 साल से बीजेपी काबिज है. अपनी सीट को बरकरार रखने के लिए इस बार बीजेपी ने यहां अपने मौजूदा सांसद निहालचंद का टिकट काटकर नए चेहरे प्रियंका बैलान को मैदान में उतार रखा है. कांग्रेस ने इस सीट को बीजेपी से छीनने के लिए यहां के जिला प्रमुख कुलदीप इंदौरा पर दांव खेला है.

गन्ना, चावल और कपास जैसी नगदी फसलों के बूते गंगानगर इलाका काफी सरसब्ज है. पंजाब की सीमा से सटा होने के कारण यहां पंजाबी भाषा, खाना पान, पहनावा और रहन सहन का काफी ज्यादा असर है. यहां पंजाबी समुदाय बहुतायत संख्या में है. इसे राजस्थान का मिनी पंजाब कहा जाता है. किसान बाहुल्य इलाका होने के के साथ ही यहां मार्क्सवादी कम्युनिष्ट पार्टी का भी काफी असर है.

किसान आंदोलन का असर आ सकता है सामने
महाराजा गंगा सिंह के नाम से बसे इस जिले में उनको सम्मान देने के लिए उनके नाम के आगे श्री लगाया जाता है. इसलिए इसे श्रीगंगानगर कहा जाता है. किसान बाहुल्य और नहरी इलाका होने के साथ ही पंजाब से सटी इसकी सीमा के कारण यहां किसानों से जुड़े किसी भी मुद्दे पर जल्द ही हलचल हो जाती है. केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ यहां भी किसान काफी उद्वेलित हो गए थे. इससे वे केन्द्र सरकार से काफी खफा रहे. यहां के किसानों ने किसान आंदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया था. वह नाराजगी इन चुनावों में भी दिखाई दी है. लिहाजा यहां बीजेपी के लिए राह आसान नहीं है. मुकाबला कड़ा है.

2019 में बड़े अंतर से जीती थी बीजेपी यहां
अगर हम बीते लोकसभा चुनाव के परिणामों पर नजर डालें तो यहां बीजेपी ने काफी बड़ी लीड ली थी. यहां बीजेपी के निहालचंद मेघवाल ने 406978 वोटों के अंतर से कांग्रेस प्रत्याशी भरतराम मेघवाल को हराया था. इससे पहले साल 2014 में निहालचंद ने कांग्रेस के मास्टर भंवरलाल मेघवाल को हराया था. उससे पहले 2009 में निहालचंद खुद चुनाव हार गए थे. साल 2019 में निहालचंद को 897177 वोट मिले थे. उससे पहले लोकसभा चुनाव 2014 में निहालचंद ने 658130 मत प्राप्त किए थे. 2014 के मुकाबले 2019 में उनको करीब डेढ़ लाख वोट ज्यादा मिले थे. साल 2019 में निहालचंद का वोट शेयर 61.74 फीसदी था.

FIRST PUBLISHED : June 4, 2024, 07:10 IST

Source : hindi.news18.com